छात्रवृत्ति घोटाले में कांग्रेस विधायक काज़ी निजामुद्दीन के भाई समेत 3 गिरफ़्तार
Haridwar News in Hindi

छात्रवृत्ति घोटाले में कांग्रेस विधायक काज़ी निजामुद्दीन के भाई समेत 3 गिरफ़्तार
(सांकेतिक तस्वीर)

कांग्रेस MLA काज़ी निज़ामुद्दीन के भाई काज़ी मोहियूद्दीन के अलावा संजय बंसल और प्रदीप अग्रवाल को भी गिरफ़्तार किया गया है.

  • Share this:
समाज कल्याण विभाग में हुए छात्रवृत्ति घोटाले के मामले में एसआईटी ने मंगलौर विधायक काज़ी निजामुद्दीन के भाई समेत तीन कॉलेज संचालकों को गिरफ्तार किया है. आरोप है कि तीनों ने मिलकर 2.50 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति हड़पी और विभाग को चूना लगाया. अनुसूचित जातिजनजाति के बच्चों को मिलने वाली छात्रवृत्ति हड़पने वालों में मंगलौर के कांग्रेस विधायक काज़ी निज़ामुद्दीन के भाई काज़ी मोहियूद्दीन का नाम भी शामिल है. उनके अलावा देहरादून के संजय बंसल और मंगलौर निवासी प्रदीप अग्रवाल भी इस घोटाले में शामिल थे.

यह भी देखें- 100 करोड़ के छात्रवृत्ति घोटाले में SIT की प्रारंभिक जांच के बाद केस दर्ज

एसआईटी जांच में सामने आया कि टेकवर्ड्स वली ग्रामोद्योग विकास संस्थान ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन मंगलौर ने 2012-13 से 2014-15 तक अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के छात्रों के दाखिले दर्शाकर करीब 2,54,10,440 रुपये की छात्रवृति हड़पी.



यह भी देखें- छात्रवृत्ति घोटाला पहुंचा हाईकोर्ट, सरकार को जवाब देने का आदेश
गिरफ़्तार किए गए आरोपी संस्थान मेंके अध्यक्ष, सचिव और कोषाध्यक्ष थे. आरोपी संजय बंसल देवभूमि ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट, देहरादून के चेयरमैन भी हैं. छात्रवृत्ति घोटाले में एसआईटी ने 21 दिन में हरिद्वार के तीसरे निजी संस्थान के खिलाफ कार्रवाई की है.

यह भी देखें- छात्रवृत्ति घोटाले में मयंक नौटियाल की गिरफ़्तारी पर रोक, एक हफ़्ते में जवाब मांगा

एसआईटी ने जब कॉलेज का भौतिक सत्यापन किया तो कॉलेज के स्थान पर खंडहर मिला. आरोपियों ने एमबीए, बीबीए, बीसीए, बीएससी, आईटी के कोर्स संचालित करने के लिए वर्ष 2011 में उत्तराखंड तकनीकी विश्वविद्यालय में आवेदन किया था, लेकिन उन्हें मान्यता नहीं मिली थी.

यह भी देखें- छात्रवृत्ति घोटाला: याचिकाकर्ता ने सीबीआई जांच की मांग की

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading