फ़ेस मास्क का फायदा न उठा लें बदमाश, इसलिए रुड़की में ज्वैलरी शॉप में घुसने से पहले ऐसे चेहरा देखेगी पुलिस

रुड़की पुलिस ने कुछ ख़ास जगहों पर कुछ ख़ास समय के लिए फ़ेस मास्क हटाने की शर्त लागू कर दी है.

रुड़की पुलिस ने कुछ ख़ास जगहों पर कुछ ख़ास समय के लिए फ़ेस मास्क हटाने की शर्त लागू कर दी है.

Lockdown खुलते ही अब बाजारों में भीड़ नजर आने लगी है और अब पुलिस को आशंका है अपराधी भी सक्रिय हो जाएंगे. इसके मद्देनजर रुड़की पुलिस ने अपराध की रोकथाम के लिए नया नियम लागू किया है.

  • Share this:
रुड़की. कोरोना वायरस (COVID-19) ने दुनियाभर के लिए समस्या पैदा की है, लेकिन पुलिस के लिए यह बड़ी चुनौती बन गया है. पुलिसकर्मियों को न सिर्फ़ फ्रंटलाइन पर इससे लड़ना पड़ रहा है, बल्कि लॉकडाउन, अनलॉक के नियमों के लगातार बदलते नियमों की वजह से उनका काम और चुनौतीपूर्ण होता जा रहा है. इन्हीं चुनौतियों में शामिल हो गया है फ़ेस मास्क. भले ही फ़ेस मास्क (Face Mask) वायरस को नियंत्रित करने में सहायक हो लेकिन यह शरारती तत्वों के मददगार भी साबित हो सकते हैं. इसलिए रुड़की पुलिस ने कुछ ख़ास जगहों पर कुछ ख़ास समय के लिए फ़ेस मास्क हटाने की शर्त लागू कर दी है.



सीसीटीवी लगाएं



लॉकडाउन पुलिस के लिए चुनौती बना क्योंकि पुलिसकर्मियों को नियमों का पालन करवाने के लिए न सिर्फ़ सड़कों पर तैनात रहना पड़ा है, बल्कि संक्रमण फैलने से रोकने के लिए बने कंटेनमेंट ज़ोनों को सुरक्षित रखने के लिए सख़्ती करनी पड़ी है. हालांकि लॉकडाउन में यह राहत भी रही है कि बीते दो महीने में आपराधिक घटनाएं भी कम हुई हैं. लेकिन लॉकडाउन खुलते ही अब बाज़ारों में भीड़ नज़र आने लगी है और अब पुलिस को आशंका है अपराधी भी सक्रिय हो जाएंगे. इसलिए पुलिस की तैयारी भी शुरू हो गई है. रुड़की पुलिस प्रशासन ने एक एडवाज़री जारी कर सभी बैंक, ज्वैलर्स, फाइनेंस और बड़े दुकानों से अपील की वे सीसीटीवी कैमरे लगवाएं ताकि आपराधिक गतिविधियों पर रोक लग सके और अपराध होने पर अपराधियों को पकड़ने में मदद मिले.





उतारना होगा मास्क
सीसीटीवी से भी फ़ेस मास्क पहने हुए लोगों की पहचान नहीं हो पाएगी और कोविड-19 संक्रमण में फ़ेस मास्क पहनना अनिवार्य है. इसलिए रुड़की में हरिद्वार पुलिस ने एक नई पहल की है. एसपी देहात स्वपन किशोर का कहना है कि बैंक, फाइनेंस और ज्वैलर्स की दुकानों में प्रवेश करने वाले सभी ग्राहकों को 20 सेकेंड के लिए अपना मास्क उतारना होगा और सीसीटीवी कैमरे के सामने खड़ा होना पड़ेगा.



इससे मास्क पहने हुए व्यक्ति का चेहरा सीसीटीवी में आ जाएगा और किसी भी अपराध की स्थिति में उसकी पहचान हो पाएगी. एसपी देहात ने कहा कि ऐहतिहात के तौर पर सभी को सतर्क रहने की ज़रूरत है और यह सुनिश्चित करना होगा कि फ़ेस मास्क लगाने के नियम का आपराधिक तत्व फ़ायदा न उठा पाएं.



ये भी देखें: 



 


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज