जहरीली शराब कांड : मंत्री यशपाल आर्य ने पीड़ितों के बीच देरी से आने पर खेद प्रकट किया

कैबिनट मंत्री यशपाल आर्य ने कहा कि शराब पीड़ितों के गांवों में पहुंचने में जरूर देरी हुई है और इसका उन्हें दुःख है. उन्होंने ग्रामाणों की नाराजगी को स्वभाविक बताया.

Manoj Juyal | News18 Uttarakhand
Updated: February 13, 2019, 2:29 PM IST
जहरीली शराब कांड : मंत्री यशपाल आर्य ने पीड़ितों के बीच देरी से आने पर खेद प्रकट किया
यशपाल आर्य, कैबिनेट मंत्री उत्तराखंड
Manoj Juyal | News18 Uttarakhand
Updated: February 13, 2019, 2:29 PM IST
हरिद्वार में रुड़की के बालूपुर, बिंदु खडक और भलस्वगाज में जहरीली शराब से अबतक 38 लोगों की मौत हो चुकी है. इस घटना के पांच दिन बाद कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य पीड़ितों के गांव में पहुंचे. ग्रामीणों ने मंत्री के सामने अपना दुःख व्यक्त किया. ग्रामीणों का आरोप है कि पांच दिन बाद सरकार को पीड़ितों की याद आई, जबकि इस जहरीली शराब से कई घरों के चिराग बुझ चुके हैं. ग्रामीणों ने प्रशासन पर मंत्री के सामने ही जमकर भड़ास निकाली. ग्रामीणों का कहना है कि उन्होंने शराब के मामले में कई बार प्रशासन से शिकायत की थी, लेकिन किसी ने कभी भी इसकी सुध नहीं ली. वहीं कैबिनट मंत्री यशपाल आर्य ने कहा कि शराब पीड़ितों के गांवों में पहुंचने में जरूर देरी हुई है और इसका उन्हें दुःख है. उन्होंने ग्रामाणों की नाराजगी को स्वभाविक बताया.

मंत्री ने ग्रामीणों को भरोसा दिलाते हुए कहा कि मुआवजे की राशि जल्द ही पीड़ित परिवारों तक पहुंचाई जाएगी. उन्होंने कहा कि सरकार उनकी हर संभव मदद कर रही है. सरकार मामले को लेकर गंभीर और संवेदनशील है. मंत्री ने कहा कि जहरीली शराब कांड मामले में एसआईटी गठित की गई है. इसमें जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि इसमें किसी भी तरह से विलंब नहीं होगा.

साथ ही मंत्री ने कहा कि गांवों में ग्रामीणों के लिए कैंप लगाया जाएगा ताकि ग्रामीणों को मदद मिल सके.



ये भी पढ़ें - जहरीली शराब कांड मामले में और एक आरोपी गिरफ्तार

ये भी पढ़ें - रुद्रपुर में पीएम की होनेवाली जनसभा से भाजपा को सियासी लाभ मिलने का भरोसा

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...