लोहड़ी के लिए लकड़ी बीनने गए बुजुर्ग पर हाथी ने किया हमला, मौत

राजाजी टाइगर रिजर्व में शनिवार देर शाम लकड़ी बीनने गए दो लोगों के ऊपर हाथी ने हमला कर दिया. दो में से एक व्यक्ति ने हाथी के हमले से बचकर अपनी जान बचा ली, लेकिन दूसरा इतना खुशकिस्मत नहीं रहा. हाथी ने 60 वर्षीय बुजुर्ग को कुचल कर मार डाला.

Tanuja Walia | ETV UP/Uttarakhand
Updated: January 14, 2018, 8:05 AM IST
लोहड़ी के लिए लकड़ी बीनने गए बुजुर्ग पर हाथी ने किया हमला, मौत
लोहड़ी के लिए लकड़ी बीनने गया था बुजुर्ग.
Tanuja Walia | ETV UP/Uttarakhand
Updated: January 14, 2018, 8:05 AM IST
राजाजी टाइगर रिजर्व में शनिवार देर शाम लकड़ी बीनने गए दो लोगों के ऊपर हाथी ने हमला कर दिया. दो में से एक व्यक्ति ने हाथी के हमले से बचकर अपनी जान बचा ली, लेकिन दूसरा इतना खुशकिस्मत नहीं रहा. हाथी ने 60 वर्षीय बुजुर्ग को कुचल कर मार डाला. परिजनों द्वारा कई बार पार्क अधिकारियों को कहने के बावजूद किसी ने देर रात तक जंगल में जाने की जरूरत नहीं समझी. जब पुलिस ने आम लोगों के साथ जंगल में जाने की बात कही तब कहीं जाकर पार्क कर्मी साथ में आए. पुलिस ने बुजुर्ग के शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

राजाजी टाइगर रिजर्व से सटी टिबड़ी कॉलोनी में रहने वाले 60 वर्षीय चंद्र शनिवार सुबह करीब 11:30 बजे मोहल्ले के एक युवक के साथ लोहड़ी मनाने के लिए लकड़ी बीनने सामने के जंगल में गए थे. इसी दौरान करीब 4:00 बजे हाथी ने इन दोनों पर हमला कर दिया.

बुजुर्ग के साथ गया युवक तो किसी तरह अपनी जान बचाकर लौट आया, लेकिन चंद्र को हाथी ने कुचल कर मार दिया. युवक की सूचना के बाद शाम से घरवाले पार्क के अधिकारियों से बुजुर्ग को ढूंढने के लिए जंगल में चलने की बात करते रहे. रात करीब 9:00 बजे तक कोई वनकर्मी साथ चलने को तैयार नहीं हुआ.

जब रानीपुर पुलिस ने साथ जाने की बात कही तब लोगों के साथ वनकर्मी अंदर गए और शव को ढूंढ कर लाए. लोगों का कहना है कि हाथियों ने इस क्षेत्र में काफी आतंक मचा रखा है. आए दिन हाथी जंगलों से निकल सड़क पर आ जाते हैं और लोग  भागकर उनसे जान बचाते हैं.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->