Haridwar Mahakumbh 2021: प्रशासन ने श्रद्धालुओं के स्नान के लिए तैयार किए 107 घाट, ऐसी है तैयारी

इन घाटों पर कोरोना गाइडलाइंस के तहत सुरक्षित तरीके से श्रद्धालुओं को स्नान की व्यवस्था की जाएगी. (फाइल फोटो)
इन घाटों पर कोरोना गाइडलाइंस के तहत सुरक्षित तरीके से श्रद्धालुओं को स्नान की व्यवस्था की जाएगी. (फाइल फोटो)

आईजी कुंभ संजय गुंजियाल (Sanjay Gunjial) का कहना है कि कोविड-19 गाइडलाइन के तहत उन्होंने अपनी तैयारियां लगभग पूरी कर ली है जिसको अंतिम रूप दिया जा रहा है.

  • Share this:
देहरादून. कोविड -19 (COVID-19) के दौरान हरिद्वार में महाकुंभ (Haridwar Mahakumbh) का आयोजन करवाना प्रशासन के लिए बड़ी चुनोती है. एक तरफ कुंभ का सफल आयोजन करवाना और दूसरी तरफ महाकुंभ में आये श्रद्धालुओं में कोरोना महामारी न फैले जिसकी रणनीति तैयार करना कहीं न कहीं प्रशासन के लिए बड़ी चुनोती बनी हुई है. कुम्भ में कोरोना गाइडलाइंस (Corona Guidelines) के तहत सोशियल डिस्टेंस मेंटेन करवाने के लिए प्रशासन हर तरीका अपना रहा है, जिसके लिए प्रशासन ने इस बार महाकुंभ में स्नान के लिए करीब 2 लाख मीटर इलाके में 107 घाटों (Ghats) को चिन्हित किया है. ये वो घाट रहेंगे जिनमे श्रद्धालु आराम से कुम्भ की डुबकी मार कर पुण्य अर्जित करेंगे. इन स्नान घाटों में करीब 65 घाट प्रशासन के और अन्य घाट आश्रमो के हैं, जिनको प्रशासन कुंभ के दौरान उपयोग में श्रद्धालुओं के लिए लाएगा.

इन घाटों पर कोरोना गाइडलाइंस के तहत सुरक्षित तरीके से श्रद्धालुओं को स्नान की व्यवस्था की जाएगी. इसके लिए प्रशासन ने एक समय पर करीब 1 लाख 30 हजार श्रद्धालुओं के एक साथ स्नान करने की योजना तैयार की है. जिनको पूर्ण रूप देने के लिए प्रशासन ने नवम्बर तक का समय दिया है. क्योंकि कोरोना महामारी के लॉकडाउन के चलते कई कामों को समय से न होने के चलते प्रशासन ने सभी कामो को नवम्बर तक समाप्त करने का आदेश जारी किया है.

गाइडलाइन के तहत उन्होंने अपनी तैयारियां लगभग पूरी कर ली है
आपको बाता दें कि 1 जनवरी से हरिद्वार में महाकुंभ आयोजित होना है जिसमें 4 शाही स्नान के साथ 6 अन्य प्रमुख स्नान होने हैं. जिनमे अनलॉक के बाद प्रशासन को बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के आने की असंका है. हरिद्वार कुंभ 2021 का पहला शाही स्नान 11 मार्च महाशिवरात्रि और अंतिम शाही स्नान 27 अप्रैल चैत्र पूर्णिमा के दिन होना है. जिसको लेकर अब प्रशासन अपनी हर तैयारियों में जुट गया है. वहीं, आईजी कुम्भ संजय गुंजियाल का कहना है कि कोविड-19 गाइडलाइन के तहत उन्होंने अपनी तैयारियां लगभग पूरी कर ली है जिसको अंतिम रूप दिया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज