Haridwar Kumbh: शाही स्नान से पहले अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष कोरोना पॉजिटिव, अखिलेश और CM रावत से की थी मुलाकात

बुखार से पीड़ित महंत नरेंद्र गिरि को अस्पताल ने कोरोना रिपोर्ट के आने के पहले छोड़ दिया. अब निकले कोरोना संक्रमित.

बुखार से पीड़ित महंत नरेंद्र गिरि को अस्पताल ने कोरोना रिपोर्ट के आने के पहले छोड़ दिया. अब निकले कोरोना संक्रमित.

बुखार की शिकायत के बाद दो दिनों से अस्पताल में थे महंत नरेंद्र गिरि. अस्पताल प्रशासन ने कोरोना की जांच रिपोर्ट आने से पहले ही कर दिया था डिस्चार्ज. फिर उत्तराखंड के सीएम सहित कई लोगों ने की है मुलाकात.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2021, 9:00 PM IST
  • Share this:
हरिद्वार. 12 अप्रैल को हरिद्वार महाकुंभ के शाही स्नान से ठीक एक दिन पहले अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि कोरोना पॉजिटिव निकले. महंत नरेंद्र गिरि पिछले दो दिनों से अस्पताल में भर्ती थे. उन्हें बुखार की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती किया गया था. जहां कोरोना वायरस की जांच के लिए उनका सैंपल लिया गया था. लेकिन जांच रिपोर्ट आने से पहले ही उन्हें रविवार सुबह अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया.

उत्तराखंड के सीएम समेत कई लोगों ने की है मुलाकात

अब रविवार दोपहर को महंत नरेंद्र गिरि की कोरोना वायरस रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद हड़कंप मच गया. क्योंकि इस दौरान महंत नरेंद्र गिरि कई साधु संतों के साथ ही उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से भी मुलाकात कर चुके हैं. बीमार होने से पहले नरेंद्र गिरी की मुलाकात सीएम तीरथ सिंह रावत से भी हुई थी.

ये साधु-संत रहे नरेंद्र गिरी के टच में
निरंजनी अखाड़े के पीठाधीश्वर आचार्य कैलाश आनंद गिरी, अखाड़े के सचिव रविंद्र पुरी महाराज सीधे-सीधे नरेंद्र गिरी के टच में थे. अस्पताल में भर्ती होने के दौरान भी दोनों संतों ने नरेंद्र जी से मुलाकात की थी. यही नहीं, मेला अधिकारी दीपक रावत, आईजी संजय गुंज्याल, एसएसपी कुंभ मेला जन्मेजय खंडूरी और अन्य अधिकारियों ने भी नरेंद्र गिरी से अस्पताल में जाकर मुलाकात की थी. मुलाकात के ठीक एक दिन बाद नरेंद्र गिरी के पॉजिटिव आने से चिंताएं बढ़ गई हैं.

12 अप्रैल को शाही स्नान

12 अप्रैल को महाकुंभ का शाही स्नान है. इस स्नान में निरंजनी अखाड़ा सबसे पहले हिस्सा लेता है. ऐसे में अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के कोरोना पॉजिटिव आने से अखाड़े के स्नान पर असर पड़ सकता है. साफ है जो साधु संत नरेंद्र गिरी के टच में आए हैं, उन्हें इस स्नान से दूर रहना पड़ सकता है. हालांकि प्रशासन का दावा है कि जो भी लोग नरेंद्र गिरी की टच में आए हैं उनका रैपिड एंटीजन टेस्ट किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज