Home /News /uttarakhand /

'धर्म संसद' मामला: पुलिस अफसर के साथ हंसते दिखे वसीम रिजवी और नरसिंहानंद, कहा- लड़का हमारी तरफ होगा

'धर्म संसद' मामला: पुलिस अफसर के साथ हंसते दिखे वसीम रिजवी और नरसिंहानंद, कहा- लड़का हमारी तरफ होगा

इस मौके पर रिकॉर्ड मोबाइल वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. (फाइल)

इस मौके पर रिकॉर्ड मोबाइल वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. (फाइल)

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें पुलिस अधिकारी राकेश कथैट से पूजा शकुन पांडे उर्फ ​'साध्वी अन्नपूर्णा' कहती दिख रही हैं, 'आपको एक संदेश भेजना चाहिए कि आप पक्षपाती नहीं हैं. हम आपसे यही उम्मीद करते हैं कि आप निष्पक्ष हों. आप सदैव ही जय हो.' इस पर यति नरसिंहानंद बीच में टोकते हुए कहते हैं, 'अरे निष्पक्ष क्यों, लड़का हमारी तरफ होगा.' उनकी इस बात पर कमरा ठहाकों से गूंज उठता है.

अधिक पढ़ें ...

    हरिद्वार. उत्तराखंड के हरिद्वार में 17 से 19 दिसंबर तक आयोजित हुई ‘धर्म संसद’ (Dharm Sansad) में मुसलमानों के खिलाफ हथियार उठाने और नरसंहार का आह्वान करने वाले हिन्दू धर्मगुरु आज पुलिस अधिकारी के साथ हंसते हुए देखे गए. इसी दौरान वहां मौजूद यति नरसिंहानंद सस्वती  (Yati Narasimhanand) को कहते सुना गया कि ‘निष्पक्ष क्यों यह लड़का तो हमारे साथ होगा.’ इस वीडियो से सामने आने के बाद इस मामले में पुलिस की कार्यशैली पर एक बार फिर सवाल उठने लगे हैं.

    दरअसल धर्म संसद में भड़काऊ भाषण देने के आरोपी वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र त्यागी (Wasim Rizvi aka Jitendra Tyagi) ने हरिद्वार पहुंचकर शांभवी धाम आश्रम में साधु-संतों से मुलाकात की और फिर इस ‘धर्म संसद’ में भाग लेने वाले यति नरसिंहानंद सहित अन्य कुछ लोगों के साथ हरिद्वार के पुलिस थाने पहुंचें, जहां उन्होंने मुस्लिम मौलवियों पर हिन्दुओं के खिलाफ साजिश रचने का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज करने और उन्हें दंडित करने की मांग करते हुए तहरीर दी. पुलिस का हालांकि कहना है कि इस बाबत कोई प्राथमिकी नहीं दर्ज की गई.

    ये भी पढ़ें- उत्तराखंड चुनाव से पहले अब किसे साधने में जुटी BJP? कार्यकर्ताओं को दिया नया टास्क

    इस मौके पर रिकॉर्ड मोबाइल वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें पुलिस अधिकारी राकेश कथैट के साथ हरिद्वार में विवादास्तद ‘धर्म संसद’ के आयोजक तथा हिंदू रक्षा सेना के प्रबोधानंद गिरी, धार्मिक नेता यति नरसिंहानंद, पूजा शकुन पांडे उर्फ ‘साध्वी अन्नपूर्णा’; शंकराचार्य परिषद नामक निकाय के मुखिया आनंद स्वरूप और वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण को देखा जा सकता है. इनमें से तीन का नाम उत्तराखंड पुलिस द्वारा भड़काऊ भाषण के मामले में दर्ज प्राथमिकी में दर्ज है.

    ये भी पढ़ें- चार धाम रेल प्रोजेक्ट ने पकड़ी रफ्तार, रेलवे ने तस्वीरों में दिखाया ताज़ा हाल

    इस वीडियो में पूजा शकुन पांडे उर्फ ​’साध्वी अन्नपूर्णा’ पुलिस अधिकारी को मौलानाओं के खिलाफ शिकायत की एक कॉपी देते हुए कहती हैं, ‘आपको एक संदेश भेजना चाहिए कि आप पक्षपाती नहीं हैं. आप एक प्रशासनिक अधिकारी हैं और आपको सभी के साथ समान व्यवहार करना चाहिए. हम आपसे यही उम्मीद करते हैं कि आप निष्पक्ष हों. आप सदैव ही जय हो.’

    ये भी पढ़ें- दलित भोजन माता के विवाद का हुआ खुशियों भरा अंत, सूखीढांग स्कूल के सभी छात्रों ने साथ मिलकर खाया मिड-डे मील

    इसी दौरान वहां मौजूद यति नरसिंहानंद बीच में टोकते हुए कहते हैं, ‘अरे निष्पक्ष क्यों, लड़का हमारी तरफ होगा.’ उनकी इस बात पर कमरा ठहाकों से गूंज उठता है, जबकि वह अधिकारी भी इस बात पर मुस्कुराते हुए सिर हिलाते दिख रहे हैं.

    Tags: Communal Tension, Haridwar news, Hate Speech, Wasim Rizvi

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर