सोमवती अमावस्या पर गंगा स्नान के लिए उमड़े श्रद्धालु, लाखों पहुंचे हरिद्वार-ऋषिकेश

वट सावित्री का व्रत भी साथ पड़ने को लेकर मान्यता है कि इस योग में गंगा स्नान, दान पुण्य करने से राहु, केतु और शनि से संबंधित कष्टों से मुक्ति मिलती है.

News18 Uttarakhand
Updated: June 3, 2019, 12:21 PM IST
सोमवती अमावस्या पर गंगा स्नान के लिए उमड़े श्रद्धालु, लाखों पहुंचे हरिद्वार-ऋषिकेश
देश के कोने-कोने से लाखों की संख्या में श्रद्धालु हरिद्वार पहुंच रहे हैं और गंगा घाटों पर आस्था की डुबकी लगा रहे हैं. आज 3:32 बजे तक सोमवती अमावस्या रहेगी. सुरक्षा के लिहाज से पुलिस प्रशासन ने कड़े बंदोबस्त किए हैं.
News18 Uttarakhand
Updated: June 3, 2019, 12:21 PM IST
Haridwar somvati amavasya snan
सोमवती अमावस्या पर सुबह से ही श्रद्धालु गंगा घाटों पर स्नान कर रहे हैं. आज वट सावित्री और सोमवती अमावस्या का पर्व एक साथ पड़ा है और इसलिए देश के कोने-कोने से लाखों की संख्या में श्रद्धालु हरिद्वार पहुंच रहे हैं और गंगा घाटों पर आस्था की डुबकी लगा रहे हैं. आज 3:32 बजे तक सोमवती अमावस्या रहेगी. सुरक्षा के लिहाज से पुलिस प्रशासन ने कड़े बंदोबस्त किए हैं. मेला क्षेत्र को 5 सुपर ज़ोन, 14 ज़ोन में बांटा गया है. ट्रैफिक प्लान को लेकर भी पुलिस अलर्ट है लेकिन शहर में जाम की स्थिति बन सकती है. (फ़ोटो: मनोज जुयाल)


somvati amavasya snan Haridwar 2
हरिद्वार में भारी भीड़ है और पुलिस के लिए स्नान के बाद जाम से लोगों को बहार निकालना सबसे बड़ी चुनौती है. (फ़ोटो: मनोज जुयाल)


somvati amavasya snan Haridwar 3
दरअसल चारधाम यात्रा तो चल ही रही है, इसके साथ ही स्कूलों में गर्मियों की छुट्टियां भी पड़ी हुई हैं. इसकी वजह से लाखों की संख्या में श्रद्धालु स्नान करने पहुंचे हुए हैं. (फ़ोटो: मनोज जुयाल)


somvati amavasya snan Haridwar 4
ऐसे मौकों पर नारसन बॉर्डर से लेकर हरिद्वार जाम लग जाता है जो उमस भरी गर्मी के इस मौसम में लोगों के लिए बड़ी मुसीबत साबित होता है और गंगा स्नान की ताज़गी, उत्साह पसीने में धुलने लगता है. (फ़ोटो: मनोज जुयाल)


somvati amavasya snan rishikesh
हरिद्वार के साथ ही ऋषिकेश के त्रिवेणी संगम पर भी दूर-दूर से पहुंचे श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाई. चार धाम यात्रा और स्नान का विशेष महत्व होने के चलते बड़ी संख्या में लोग गंगा स्नान के लिए पहुंचे. (फ़ोटो: आशीष डोभाल)


somvati amavasya snan rishikesh 2
तीर्थपुरोहितों के अनुसार सोमवती अमावस्या पर भगवान विष्णु पीपल पर निवास करते हैं. वट सावित्री का व्रत भी साथ पड़ने को लेकर मान्यता है कि इस योग में गंगा स्नान, दान पुण्य करने से राहु, केतु और शनि से संबंधित कष्टों से मुक्ति मिलती है. (फ़ोटो: आशीष डोभाल)


 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देहरादून से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 3, 2019, 12:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...