होम /न्यूज /उत्तराखंड /IIT रुड़की ने कोरोना वायरस संदिग्धों का पता लगाने के लिए बनाया APP, जानें खासियत

IIT रुड़की ने कोरोना वायरस संदिग्धों का पता लगाने के लिए बनाया APP, जानें खासियत

आईआईटी रुड़की ने Cloudxlab.com पर डीप लर्निंग पर एक उन्नत प्रमाण पाठ्यक्रम शुरू किया है.

आईआईटी रुड़की ने Cloudxlab.com पर डीप लर्निंग पर एक उन्नत प्रमाण पाठ्यक्रम शुरू किया है.

कोरोना संदिग्धों की निगरानी के लिए सरकारी प्रयासों को और सफल बनाने के लिए आईआईटी रूड़की (IIT Roorkee) ने एक ‘ट्रैकिंग म ...अधिक पढ़ें

    हरिद्वार. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर जारी है. वहीं, कोरोना संदिग्धों की निगरानी के लिए सरकारी प्रयासों को और सफल बनाने के लिए इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी रुड़की (IIT Roorkee) ने अत्याधुनिक फीचरों से युक्त एक ‘ट्रैकिंग मोबाइल ऐप’ विकसित किया है.

    आईआईटी रुड़की के सिविल इंजीनियरिंग विभाग के प्रोफेसर कमल जैन ने बताया कि यह ऐप व्यक्तियों को ट्रैक करने के अलावा आइसोलेशन में भेजा गया व्यक्ति यदि उसका उल्लंघन करता है तो उसे सतर्क भी कर सकता है. उन्होंने बताया कि अगर जीपीएस डाटा नहीं मिलता तो मोबाइल टॉवर के जरिए ‘लोकेशन’ अपने आप मिल जायेगी और अगर किसी क्षेत्र में इंटरनेट नहीं चल रहा है तो भी एसएमएस द्वारा लोकेशन मिल जाएगी.

    जैन ने कहा कि यह ‘ट्रैकिंग सिस्टम’ कोविड-19 के दौरान अत्याधुनिक तरीके से निगरानी करता है. उन्होंने कहा, ‘‘कठिन दिनों में सरकार के प्रयासों में सहयोग देने के लिये यह हमारा एक छोटा प्रयास है.’’

    आईआईटी रुड़की ने बनाया कम कीमत वाला पोर्टेबल वेंटिलेटर 'प्राणवायु'
    वहीं, आईआईटी रुड़की के शोधकर्ताओं ने कम कीमत वाला वेंटिलेटर तैयार कर लिया है. आईआईटी रुड़की के बनाए क्लोज-लूप वाले इस वेंटिलेटर को कम्प्रेस्ड एयर की जरूरत नहीं होगी. इसकी वजह से जब आईसीयू में वार्ड बदला जाता है तो यह काफी आसान होता है यानी ये वेंटिलेटर पोर्टेबल होगा. आईआईटी रुड़की ने इस वेंटिलेटर का नाम प्राणवायु रखा है. यह कम कीमत वाला वेंटिलेटर एम्स के साथ मिलकर बनाया गया है. इसके फीचर्स काफी अच्छे हैं.

    आईआईटी रुड़की का कहना है कि इस वेंटिलेटर की रिमोट मॉनिटरिंग की जा सकती है. साथ ही इसमें टच स्क्रीन कंट्रोल भी दिया गया है. इसकी मदद से मरीज को दी जाने वाली एयर का तापमान भी कंट्रोल किया जा सकता है. इसके प्रेशर और फ्लो रेट को ऑटोमेटेड प्रोसेस से कंट्रोल किया जाता है. आईआईटी रुड़की के मुताबिक, इस वेंटिलेटर की कीमत सिर्फ 25,000 रुपये है.

    ये भी पढ़ें-

    COVID-19 Update: उत्तराखंड में 4 नए मामले, पॉजिटिव मामलों की संख्या 26 हुई

    उत्तराखंड: तबलीगी जमात के 6 सदस्य कोराना से संक्रमित, अब तक कुल 22 मामले

    Tags: Corona, Coronavirus, Iit roorkee, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें