कांवड़ यात्राः यहां जानिए हरिद्वार आने-जाने के लिए कौन से रास्तों का इस्तेमाल करना है

कांवड़ यात्रा सुरक्षित संपन्न हो इसके लिए राज्य पुलिस ने लंबी चौड़ी कार्ययोजना बनाई है.

Rajesh Dobriyal | News18 Uttarakhand
Updated: July 16, 2019, 5:56 PM IST
कांवड़ यात्राः यहां जानिए हरिद्वार आने-जाने के लिए कौन से रास्तों का इस्तेमाल करना है
बुधवार से कांवड़ यात्रा शुरु हो रही है. इस साल 3 करोड़ लोगों के उत्तराखंड आने का अनुमान है. (हरिद्वार में कांवड़ियों की फ़ाइल फ़ोटो)
Rajesh Dobriyal | News18 Uttarakhand
Updated: July 16, 2019, 5:56 PM IST
उत्तराखंड पुलिस साल की अपनी सबसे बड़ी चुनौती के लिए कमर कस चुकी है. बुधवार से कांवड़ यात्रा शुरु हो रही है. इस साल 3 करोड़ लोगों के उत्तराखंड आने का अनुमान है. इनकी कांवड़ यात्रा सुरक्षित संपन्न हो इसके लिए राज्य पुलिस ने लंबी चौड़ी कार्ययोजना बनाई है. बड़ी संख्या में अधिकारियों-कर्मचारियों को तैनात किया गया है और उन्हें उनकी ज़िम्मेदारियां साफ़ कर दी गई हैं. कांवड़ यात्रा के दौरान सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक ट्रैफ़िक प्लान होता है क्योंकि कुल 1.10 करोड़ की आबादी वाले उत्तराखंड की ज़रूरतें और इंफ़्रास्ट्रक्चर सीमित है. राज्य पुलिस ने ट्रैफ़िक को लेकर डिटेल्ड प्लान जारी किया है.

कांवड़ यात्राः जाम से बचना मुश्किल, अधूरे फ़्लाइओवरों ने बढ़ाई उत्तराखंड पुलिस की चुनौती

17 से 30 तक चलने वाली कांवड़ यात्रा के दौरान रहने वाले ट्रैफ़िक-प्लान पर एक नज़र...

हर की पैड़ी तक आवाजाही 


  • मेरठ-मुज़फ़्फ़रनगर से आकर वापस मुज़फ़्फ़रनगर की ओर जाने वाले कांवड़िए हर की पैड़ी से गंगाजल लेने के बाद रोडीबेलवाला प्रशासनिक मार्ग से होते हुए अलकनंदा तिराहे पहुंचेगे. वहां से दाहिने केशव आश्रम के सामने बने रास्ते से 100 मीटर आगे रैंप से होते हुए नया बैराज पुल से शंकराचार्य मार्ग होते हुए कांवड़ पटरी पर पहुंच जाएंगे और वहां से अपने-अपने गंतव्य को जा  सकेंगे.

  • रोडीबेलवाला रैंप से गुजरावाला चौक, तुलसी चौक होते हुए शंकराचार्य चौक के सामने से नहर पटरी पहुंचकर कांवड़िए नहर पटरी से ही अपने गंतव्य स्थान के लिए निकलेंगे.

  • Loading...


बसों का रूट

  • दिल्ली-मेरठ-हरियाणा से हरिद्वार आने वाली बसें मेरठ, मीरापुर, बिजनौर, नजीबाबाद, श्यामपुर थाना, 4.2 माइल स्टोन से नीलधारा/गौरीशंकर पार्किंग तक पहुंचेंगी.

  • मुज़फ़्फ़रनगर से हरिद्वार आने वाली बसें मंगलौर से लंढौरा होते हुए लक्सर से फेरुपुर, देशरक्षक तिराहा, थाना कनखल से होती हुई बंगाली अस्पताल मोड के सामने से वापस होंगी और शंकराचार्य चौक से मुख्य हाइवे होते हुए ऋषिकुल, सिंह द्वार, बहादराबाद, रुड़की होते हुए अपने गंतव्य को जाएंगी.

  • दिल्ली, मेरठ, मुज़फ़्फ़रनगर से देहरादून जाने वाली बसें रामपुर तिराहा मुज़फ़्फ़रनगर से देवबंद, झुटमलपुर होते हुए देहरादून जाएंगी.

  • हरियाणा, हिमाचल, सहारनपुर की ओर से हरिद्वार आने वाली बसें छुटमलपुर, देहरादून, रायवाला, भूपतवाला होते हुए मोतीचूर पार्किंग तक आएंगी और भीमगौड़ा बैराज चीला मार्ग होते हुए ऋषिकेश, देहरादून से वापस जाएंगी.

  • गढ़वाल और ऋषिकेश, देहरादून से हरिद्वार आने वाली बसें ऋषिकेश, देहरादून से नेपाली फ़ॉर्म, रायवाला होते हुए मोतीचूर पार्किंग तक आएंगी और भीमगौड़ा बैराज से चीला मार्ग होते हुए ऋषिकेश, देहरादून वापस जाएंगी.

  • देहरादून से नजीबाबाद, नैनीताल जाने वाली बसें रायवाला, मोतीचूर, चंडीचौक, श्यामपुर होते हुए नजीबाबाद, नैनीताल की ओर जाएंगी.

  • नजीबाबाद, नैनीताल से देहरादून जाने वाली बसें नजीबाबाद से श्यामपुर, 4.2 किलोमीटर तिराहा (तिरछा पुल) से नीलधारा, चीला मार्ग होते हे ऋषिकेश और देहरादून न जाएंगी.


भारी वाहन

  • पहले चरण यानि कि 17 से 23 तारीख तक रात 11 बजे से 4 बजे तक गंतव्य तक आने-जाने की अनुमति दी जाएगी

  • 24 तारीख से मेला समाप्ति पर हरिद्वार में भारी वाहनों का प्रवेश पूरी तरह बंद रहेगा.


हल्के वाहन- कांवड़ वाहन

  • 17 से 23 तारीख तक पहले चरण में हल्के वाहन (कांवड़ वाहन सहित) मुख्य मार्ग से आ-जा सकेंगे और हरिद्वार की किसी भी पार्किंग में पार्क किए जा सकेंगे.


भीड़ का दबाव बढ़ने पर द्वितीय चरण का प्लान

  • दिल्ली, मेरठ, मुज़फ़्फ़रनगर से हरिद्वार आने वाले वाहन मेरठ, मीरापुर नजीबाबाद होते हुए नीलधारा पार्किंग में पार्क करवाए जाएंगे या रामपुर तिराहा से नारसन, मंगलौर, लक्सर, फेरुपुर, जगजीतपुर, बैरागी कैंप पार्किंग में पार्क करवाए जाएंगे, इन वाहनों की वापसी बैरागी कैंप से पुराने आयरिष पुल से होते हुए मित्तल धाम से शंकराचार्य चौक से सिंहद्वार होकर अपने गंतव्य को जाएंगे.

  • दिल्ली, मुज़फ़्फ़रनगर से देहरादून, ऋषिकेश, चारधाम यात्रा को जाने वाले वाहन मेरठ, मुज़फ़्फ़रनगर, रामपुर तिराहा, देवबंद, गागलहेड़ी, छुटमलपुर होकर देहरादून जाएंगे.

  • हरियाणा, सहारनपुर से हरिद्वार आने वाले वाहन गागलहेड़ी, भगवानपुर, पुहाना, इक़बालपुर, झबरेड़ा, लखनौता, नारसन, मंगलौर, लक्सर, फेरुपुर, जगजीतपुर से बैरागी कैंप पार्किंग में पार्क करवाए जाएंगे. इन वाहनों की वापसी बैरागी कैंप से पुराने आयरिश पुल से होते हुए मित्तल धाम से शंकराचार्य चौक से सिंहद्वार होते हुए अपने गंतव्यों के लिए होगी.

  • नैनीताल, नजीबाबाद से देहरादून जाने वाले वाहन नजीबाबाद से श्यामपुर, 4.2 किलोमीटर से नीलधारा पार्किंग से चंडी भवन होते हुए चीला मार्ग से ऋषिकेश देहरादून की ओर जाएंगे.

  • देहरादून से नैनीताल और नजीबाबाद जाने वाले वाहन रायवाला, दूधाधारी चौक से चंडीचौक, श्यामपुर होते हुए नैनीताल की ओर जाएंगे.

  • हरिद्वार से देहरादून ऋषिकेश जाने वाले वाहन चंडीचौक, चंडीचौकी से चीला मार्ग होते हुए ऋषिकेश, देहरादून जाएंगे.

  • नैनीताल, नजीबाबाद की ओर से हरिद्वार तक आने वाले वाहन श्यामपुर तिरछापुल होते हुए नीलधारा, गौरीशंकर पार्किंग में पार्क कराए जाएंगे और काली मंदिर तिराहा, चंडीचौकी श्यामपुर होते हुए इनकी वापसी होगी.

  • गढ़वाल और ऋषिकेश, देहरादून से हरिद्वार आने वाले वाहन ऋषिकेश, देहरादून से नेपाली फ़ॉर्म, रायवाला होते हुए मोतीचूर पार्किंग तक आएंगे और भीमगौड़ा बैराज से चीला मार्ग होते हुए ऋषिकेश, देहरादून वापस जाएंगे.


मसूरी में कांवड़ियों के प्रवेश पर बैन, पुलिस बोली- मचाते हैं उत्पात

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें
First published: July 16, 2019, 5:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...