लाइव टीवी

कटनी हवाला केस: हरिद्वार में श्मशान घाट से पुलिस ने कब्जे में लिया आरोपी संतोष का शव
Katni News in Hindi

ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 22, 2017, 5:35 PM IST
कटनी हवाला केस: हरिद्वार में श्मशान घाट से पुलिस ने कब्जे में लिया आरोपी संतोष का शव
बहुचर्चित कटनी हवाला कांड के अरोपी संतोष गर्ग के शव को अंतिम संस्कार से ठीक पहले पुलिस ने हरिद्वार स्थित खड़खड़ी श्मशान घाट से कब्जे में ले लिया. सतोष गर्ग की सोमवार को ऋषिकेश स्थित एम्स में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. पुलिस की निगरानी में गर्ग के शव का पोस्टमार्टम किया जा रहा है. दूसरी तरफ गर्ग की पत्नी का कहना है कि पुलिस उन्हें बेवजह परेशान कर रही है.

बहुचर्चित कटनी हवाला कांड के अरोपी संतोष गर्ग के शव को अंतिम संस्कार से ठीक पहले पुलिस ने हरिद्वार स्थित खड़खड़ी श्मशान घाट से कब्जे में ले लिया. सतोष गर्ग की सोमवार को ऋषिकेश स्थित एम्स में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. पुलिस की निगरानी में गर्ग के शव का पोस्टमार्टम किया जा रहा है. दूसरी तरफ गर्ग की पत्नी का कहना है कि पुलिस उन्हें बेवजह परेशान कर रही है.

  • Share this:
बहुचर्चित कटनी हवाला कांड के अरोपी संतोष गर्ग के शव को अंतिम संस्कार से ठीक पहले पुलिस ने हरिद्वार स्थित खड़खड़ी श्मशान घाट से कब्जे में ले लिया. सतोष गर्ग की मंगलवार को ऋषिकेश स्थित एम्स में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. पुलिस की निगरानी में गर्ग के शव का पोस्टमार्टम किया जा रहा है. बैंक मे फर्जी खाता खोलकर लगभग 90 करोड़ रुपये के ट्रांजेक्शन को लेकर पुलिस को उसकी तलाश थी. दूसरी तरफ गर्ग की पत्नी का कहना है कि पुलिस उन्हें बेवजह परेशान कर रही है.

बहुचर्चित कटनी हवाला कांड के आरोपी की पुलिस को तलाश थी. बताया गया है कि मंगलवार को ऋषिकेश स्थित एम्स में कटनी हवाला कांड में आरोपी संतोष गर्ग की इलाज के दौरान मौत हो गई थी.

पुलिस ने हरिद्वार के खड़खड़ी श्माशान घाट से अंतिम संस्कार से ठीक पहले शव को कब्जे में ले लिया. मध्यप्रदेश की कटनी पुलिस को आरोपी संतोष गर्ग की तलाश थी. हरिद्वार में ही पुलिस की निगरानी में आरोपी के शव का पोस्टमार्टम किया जा रहा है.

व्यापम की तरह हवाला कांड के आरोपी की संदिग्ध मौत, 90 करोड़ के ट्रांजेक्शन का था आरोप



आरोपी की पत्नी की माने तो पिछले दस साल से संतोष का इलाज चल रहा था. पहले वे बाबा रामदेव के पतंजलि में दवा लेने गए थे. उसके बाद ऋषिकेश एम्स में इलाज करा रहे थे. पत्नी ने कहा कि मीडिया ने उनके पति की आत्महत्या और हत्या की फ़र्ज़ी खबर फैलाईं. पत्नी का कहना है कि उनके पास तो 5 लाख रुपये भी नहीं हैं.  90 करोड़ किसने डाले उन्हें नहीं पता.

गौरतलब है कि बहुचर्चित कटनी हवाला कांण्ड में बनाये गये आरोपी संतोष गर्ग ने बैंक में फर्जी खाता खोलकर लगभग 90 करोड रुपये का ट्रांजिक्शन किया था. कटनी पुलिस ने संतोष गर्ग को पकडने के लिए 10 हजार का इनाम घोषित किया था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कटनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 22, 2017, 3:52 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर