हरिद्वार कुंभ 2021: पहले शाही स्नान में नागा साधुओं ने गंगा में लगाई डुबकी, CM तीरथ सिंह रावत ने संतों पर बरसाए फूल

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने अखाड़ों की पेशवाई पर पुष्प वर्षा की.

Haridwar Kumbh 2021: हरिद्वार कुंभ मेले का पहला शाही स्नान आज संपन्न हो गया है. धर्मनगरी की विश्व प्रसिद्ध हर की पैड़ी समेत अन्य गंगा घाटों पर गंगा में आस्था की डुबकी लगाने के लिए श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ा. साधु संतों के अखाड़ों ने भी भव्य ढंग से ब्रह्मकुंड पर शाही स्नान किया.  

  • Share this:
    पुलकित शुक्ला

    हरिद्वार. महाशिवरात्रि (Mahashivratri 2021) के गंगा स्नान के लिए बुधवार रात से ही धर्मनगरी हरिद्वार में कांवड़ियों और श्रद्धालुओं का रेला लगा रहा. सभी गंगा घाट शिव भक्तों से पटे पड़े थे. गुरुवार सुबह 8 बजे हर की पैड़ी के ब्रह्मकुंड घाट और मालवीय दीप घाट को अखाड़ों के शाही स्नान के लिए आरक्षित कर दिया गया और आम श्रद्धालुओं से घाट को खाली करा लिया गया. उसके बाद अखाड़ों के हर की पैड़ी पर पहुंचने का सिलसिला जारी हो गया. सुबह करीब 10 बजे सबसे पहले जूना अखाड़े की पेशवाई हर की पैड़ी के ब्रह्मकुंड पर पहुंची. नागा साधुओं के साथ सभी साधु संतों ने गंगा में स्नान किया.

    जूना अखाड़ा के साथ अग्नि, आवाहन और शाही स्नान में पहली बार शामिल हुए. किन्नर अखाड़ा ने भी गंगा में स्नान किया. अखाड़ों के पूर्व निर्धारित क्रम के अनुसार निरंजनी और आनंद अखाड़ा भी हर की पैड़ी पर शाही स्नान करने पहुंचे. उसके बाद महानिर्वाणी और अटल अखाड़ा ने भी हर की पैड़ी पर आस्था की डुबकी लगाई. अखाड़ों के आचार्य महामंडलेश्वर, महामंडलेश्वरों और नागा साधुओं के गंगा स्नान का दृश्य इतना अद्भुत था कि हर कोई उसे देखने को आतुर हो गया.

    सीएम तीरथ ने किया संतों का अभिवादन

    बुधवार को ही उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले तीरथ सिंह रावत भी शाही स्नान के दौरान हरिद्वार की हर की पैड़ी पर पहुंचे. इस दौरान मुख्यमंत्री ने अखाड़ों की पेशवाई पर पुष्प वर्षा की और साधु संतों का अभिवादन किया. मुख्यमंत्री ने दूसरे अखाड़ों में जाकर भी साधु संतों से मिल कर आशीर्वाद लिया. मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि कुंभ मेले की व्यवस्थाओं में किसी भी तरह की कमी नहीं होने दी जाएगी. आज हरिद्वार पहुंच कर उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया है. कुंभ मेले के आगामी स्नान भव्य और दिव्य ढंग से संपन्न होंगे.

    महामंडलेश्वरों और नागा साधुओं के गंगा स्नान का दृश्य इतना अद्भुत था


    ये भी पढ़ें: नीतीश के मंत्री ने तेजस्वी यादव पर साधा निशाना, कहा- मुसीबत के वक्त गायब रहता है लालू परिवार

    धर्म के साथ राष्ट्रभक्ति के भी रंग

    अखाड़ों के शाही स्नान में श्री पंचायती अखाड़ा निरंजनी की पेशवाई में राष्ट्रभक्ति का भी संदेश देखने को मिला. गंगा घाट पर मौजूद हजारों साधु संतों के बीच ना सिर्फ सनातन धर्म के प्रतीक भगवा झंडे लहराए गए बल्कि देश की आन बान और शान तिरंगे झंडे को भी पूरे सम्मान के साथ लहराया गया. अखाड़े के कई नागा साधुओं के हाथ में तिरंगा झंडा नजर आया जिससे साधु-संतों का धर्म के साथ-साथ राष्ट्र के प्रति समर्पण भी उजागर हुआ. निरंजनी अखाड़ा के वरिष्ठ संत और अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि का कहना है कि नागा साधु सनातन धर्म और राष्ट्र की आन बान के लिए मर मिटने के लिए तैयार रहता है. संतो के लिए धर्म और राष्ट्र सर्वोपरि है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.