Corona Alert: हरिद्वार महाकुंभ, सिस्टम, इंतजाम, सब धड़ाम!

हरिद्वार में कुंभ मेले के दौरान कोरोना दिशा-निर्देशों का उल्लंघन चिंता का विषय बना. (फाइल)

हरिद्वार में कुंभ मेले के दौरान कोरोना दिशा-निर्देशों का उल्लंघन चिंता का विषय बना. (फाइल)

Haridwar Mahakumbh: हरिद्वार महाकुंभ में अब तक करीब दो दर्जन साधु-संत और 500 से ज्यादा श्रद्धालु संक्रमित पाए गए हैं. जरा सोचिए कि महाकुंभ में आए श्रद्धालुओं में कितने संक्रमित होंगे और कितनों के संपर्क में आए होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2021, 4:22 PM IST
  • Share this:
हरिद्वार. बार-बार आगाह करने के बावजूद जैसी आशंका थी, हरिद्वार महाकुंभ कोरोना स्प्रेडर इवेंट बन सकता है. महाकुंभ में शाही स्नान शुरू होने के पहले और शाही स्नान के बाद सामने आए कोरोना संक्रमितों के आंकड़े सरकार और सिस्टम ही नहीं, सबके लिए चिंता पैदा करने वाले हैं. अब तक जो आंकड़े सामने आए हैं, उसके मुताबिक अखाड़ों से जुड़े करीब दो दर्जन संत और 500 से ज्यादा श्रद्धालु जांच में संक्रमित पाए गए हैं. यह आंकड़े महज कुछ हजार लोगों की जांच के बाद के हैं, जबकि महाकुंभ में शाही स्नान पर 31 लाख से ज्यादा लोगों के स्नान का दावा किया गया है. बुधवार को भी लगभग 14 लाख लोगों ने कुंभ-स्नान किया. जरा सोचिए कि महाकुंभ में कितनी बड़ी संख्या में पहुंचे श्रद्धालुओं में कितने लोग संक्रमित होंगे और कितने लोगों के संपर्क में आए होंगे.

यह सही है कि हर धार्मिक आयोजन का अपना महत्व होता है. महाकुंभ के प्रति तो भारतीय जनमानस में अत्यधिक आस्था है. लेकिन कोरोना जैसी महामारी या बीमारी धर्म नहीं देखतीं. महामारी के इस दौर में मंदिर, मस्जिद से लेकर स्कूल-कॉलेज, धार्मिक, सामाजिक आयोजन तक सब कुछ बंद हैं. नदियों-तालाबों में नहाने तक पर रोक लगी है. शादी-ब्याह, मौत, मय्यत में 10-20 लोगों से ज्यादा शामिल पर पाबंदी है. ऐसे दौर में हरिद्वार में महाकुंभ, जहां हर शाही स्नान पर लाखों की भीड़ जुटनी है, वहां आयोजन से पहले महामारी की भयावहता पर विचार जरूर करना था. लेकिन इसके उलट महाकुंभ में कोविड नियमों की धज्जियां उड़ती नजर आ रही हैं.

Youtube Video

केन्द्र सरकार ने किया था आगाह

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज