कुंभ स्नान : हरिद्वार आने से पहले जान लें कुंभ मेला पुलिस का ये ट्रैफिक प्लान, नहीं होगी परेशानी

12 और 14 अप्रैल को शाही स्नान है.

12 और 14 अप्रैल को शाही स्नान है.

कुंभ मेला पुलिस ने 12 और 14 अप्रैल के लिए विशेष ट्रैफिक प्लान तैयार किया है. इसका लाभ दूसरे राज्यों और जिलों से आने वाले लोगों को होगा. पार्किंग की व्यवस्था ऐसे की गई है कि उन्हें स्नान के लिए ज्यादा दूरी तय नहीं करनी होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2021, 5:03 PM IST
  • Share this:
पुलकित शुक्ला

हरिद्वार. हरिद्वार (Haridwar) कुंभ मेले में 12 और 14 अप्रैल को शाही स्नान होना है. कुंभ मेला पुलिस (Kumbh Mela Police) ने शाही स्नानों के दौरान खास ट्रैफिक प्लान बनाया है. 15 अप्रैल तक यह ट्रैफिक प्लान लागू रहेगा. अगर आप भी इस दौरान कुंभ नगरी हरिद्वार जा रहे हैं तो आपको ट्रैफिक रूट के बारे में जान लेना चाहिए.

देहरादून, ऋषिकेश और गढ़वाल की गाड़ियों के रूट

देहरादून, ऋषिकेश और गढ़वाल से हरिद्वार आने वाले यात्रियों के लिए मोतीचूर और दूधिया बंद पार्किंग निर्धारित की गई है. यात्री इन दोनों पार्किंग में अपने वाहन पार्क कर नजदीकी गंगा घाटों पर स्नान कर सकते हैं. नजदीकी गंगा घाटों की बात करें तो बिरला घाट, लोकनाथ घाट, शालिग्राम घाट, स्वामी प्रकाश महाराज घाट, कृष्णानंद घाट, स्वामीनारायण घाट, गणेश घाट, गुरु कृष्ण घाट प्रमुख घाट हैं. जो इन दोनों पार्किंग स्थल से 1 किलोमीटर से भी कम दूरी पर हैं.
हरियाणा, पंजाब और सहारनपुर की गाड़ियों के रूट

हरियाणा, पंजाब और सहारनपुर के रास्ते हरिद्वार पहुंचने वाले यात्री सलेमपुर तिराहा, सिडकुल और बीएचईएल से होते हुए हरिद्वार में दाखिल होंगे. इस रूट से आने वाले यात्रियों के लिए नेहरू युवा केंद्र पार्किंग, गुरुद्वारा पार्किंग और धीरवाली पार्किंग निर्धारित की गई है. यात्री इन्हीं पार्किंगों में अपने वाहन पार्क कर प्रेम नगर आश्रम घाट, खन्ना नगर घाट, गोविंदपुरी घाट, विश्वकर्मा घाट जैसे नजदीकी गंगा घाटों पर स्नान करने जा सकते हैं.

दिल्ली, मेरठ और मुजफ्फरपुर की गाड़ियों के रूट



वहीं दिल्ली, मेरठ, मुजफ्फरनगर की ओर से आने वाले वाहन मंगलौर और फालोदा से डायवर्ट होकर लक्सर सुल्तानपुर होते हुए लक्ष्यदीप पार्किंग में पहुंचेंगे और यहीं से नक्षत्र वाटिका घाट, बैरागी कैंप घाट, काली मंदिर घाट और हद्दीपुर घाट जैसे नजदीकी गंगा घाटों पर स्नान करने जा सकेंगे.

बिजनौर और कुमाऊं की गाड़ियों के रूट

बिजनौर और उत्तराखंड के कुमाऊं से हरिद्वार जाने वाले यात्री गौरीशंकर पार्किंग और नीलधारा पार्किंग तक ही जा सकेंगे और यहीं से नजदीकी नमामि गंगे घाट और चंडी टापू पर गंगा स्नान कर सकेंगे.

कम से कम पैदल चलेंगे श्रद्धालु

पार्किंग में अपने वाहन पार्क करने के बाद यात्रियों को गंगा घाट तक पहुंचने के लिए कम से कम परेशानी हो उसके लिए मेला प्रशासन की ओर से शटल बसें भी चलाई गई हैं. जो यात्रियों को पार्किंग से गंगा घाटों तक लेकर जाएंगी. अगर भीड़ ज्यादा बढ़ती है और बनाई गई सभी पार्किंग फुल हो जाती है तो उसके लिए भी कुंभ मेला पुलिस ने वैकल्पिक व्यवस्था कर रखी है.

फुलप्रूफ प्लानिंग का दावा

कोरोना संक्रमण के चलते कई प्रतिबंधों के साथ कुंभ मेला आयोजित हो रहा है. बावजूद इसके लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं के हरिद्वार पहुंचने का अनुमान है. कुंभ मेला पुलिस के आईजी संजय गुंज्याल का कहना है कि पुलिस की ओर से ट्रैफिक, भीड़ प्रबंधन और कानून व्यवस्था के लिए फुलप्रूफ तैयारी कर ली गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज