मिल गई कोरोना की दवा! पतंजलि योगपीठ का दावा अब तक हज़ारों कोविड-19 पॉजिटिव के ठीक होने के सबूत

आचार्य बालकृष्ण का कहना है कि जबसे कोरोना वायरस का पता चला तब से ही पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों की टीम  इसकी दवा खोजने में जुट गई थी.
आचार्य बालकृष्ण का कहना है कि जबसे कोरोना वायरस का पता चला तब से ही पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों की टीम इसकी दवा खोजने में जुट गई थी.

आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट दुनिया के प्रतिष्ठित साइंस जनरल्स में पेपर भी पब्लिश करवाने जा रहा है.

  • Share this:
हरिद्वार. कोरोना से संघर्ष में लगी दुनिया के लिए यह ख़बर शायद सबसे काम की ख़बर है. पतंजलि योगपीठा का दावा है कि उसने कोरोना की दवा खोज ली है और यह कारगर भी साबित हुई है. दुनिया भर में कोरोना वायरस, कोविड-19, की कारगर दवा खोजने और वैक्सीन बनाने पर रिसर्च चल रही है. भारत में कोरोना अब गति पकड़ चुका है और लॉकडाउन खुलने की वजह से कोरोना संक्रमण के मामले भी बढ़ रहे हैं ऐसे में अगर पतंजलि योगपीठ का दावा सही है तो अर्थव्यवस्था के साथ ही देश भी वापस पटरी पर लौट सकता है.

सफल प्रयोग 

कोरोना वायरस, कोविड-19, की दवा बनाने का दावा पतंजलि योगपीठ के महामंत्री व योगगुरू बाबा रामदेव के सहयोगी आचार्य बालकृष्ण ने किया है. आचार्य बालकृष्ण का कहना है कि कोरोना वायरस इस वक्त भयानक स्थिति में है. जबसे कोरोना वायरस का पता चला तब से ही पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों की टीम  इसकी दवा खोजने में जुट गई थी.



उन्होंने कहा कि गिलोय, तुलसी, अश्वगंधा के साथ ही कई तरह के रसों द्वारा दवाई बनाई गई इस दवा का प्रयोग कई हज़ार कोरोना पॉजिटिव लोगों पर किया गया है. उन्हें ट्रैक किया गया और यह पाया गया कि वे सभी लोग ठीक हो गए हैं.
दुनिया के सामने रखेंगे दावा 

आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट ने अब तक उनकी दवा से ठीक होने वाले सभी कोरोना पॉज़िटिव मरीज़ों का डाटा तैयार किया गया है. कोरोना की अलग-अलग स्टेज और हर उम्र के लोगों का डाटा है. इसके साथ ही सैकड़ों लोगों पर क्लीनिकल ट्रायल भी शुरु कर दिए गए हैं.

उन्होंने कहा कि पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट जल्द ही दुनिया के प्रतिष्ठित साइंस जनरल्स में पेपर भी पब्लिश करवाने जा रहा है. इसके लिए तैयारी शुरु की जा चुकी है. मेडिकल साइंस से जुड़े लोग जो भी सबूत मांगेंगे, उन्हें उपलब्ध करवाए जाएंगे.

यह भी देखें:
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज