ख़राब क्वालिटी के खाने के विरोध में नवोदय विद्यालय के छात्र-छात्राएं हड़ताल पर

रुड़की की अपर तहसीलदार सुशीला कोटवाल स्कूल पहुंची और खाने की जांच की. उन्होंने कहा कि खाने की क्वालिटी खराब नहीं मिली है.

News18 Uttarakhand
Updated: May 4, 2018, 3:36 PM IST
News18 Uttarakhand
Updated: May 4, 2018, 3:36 PM IST
हरिद्वार के लंढौरा के शिकारपुर में स्थित नवोदय विद्यालय एक बार फिर गलत वजहों से चर्चाओं में है. छात्रों का आरोप है कि मेस में ख़राब क्वालिटी का खाना परोसा जा रहा है. इसके विरोध में बुधवार को स्कूल के छात्र-छात्राएं स्कूल परिसर में ही हड़ताल पर बैठ गए.

लंठौरा के नवोदय विद्यायल में भोजन की गुणवत्ता को लेकर पहले भी सवाल उठे है और छात्रों के बीमार होने की भी ख़बरें आई हैं. लेकिन स्कूल प्रबंधन इसे लेकर ज़रा भी गंभीर नहीं दिख रहा है.

भोजन की गुणवत्ता को सुधारने के लिए बुधवार को स्कूल परिसर में ही भूख हड़ताल पर बैठ गए. लेकिन भूख हड़ताल पर बैठे छात्र-छात्राओं की तबियड बिगड़ गई. इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया.

छात्रों की मांग है कि ठेकेदार का भोजन का टेंडर निरस्त किया जाय ताकि उन्हें अच्छी क्वालिटी का खा मिल सके. इन छात्र-छात्राओं ने यह भी कहा कि जब तक कोई उच्च अधिकारी उनकी समस्या का समाधान नही करेगा तब तक उनका धरना जारी रहेगा.

Rruraki navodaya anshan

छात्र-छात्राओं के धरने की ख़बर मिलने पर रुड़की की अपर तहसीलदार सुशीला कोटवाल स्कूल पहुंची और खाने की जांच की. उन्होंने कहा कि खाने की क्वालिटी खराब नहीं मिली है और फिर भी ठेकेदार को ज़्यादा सफ़ाई से और अच्छा खाना बनाने के निर्देश दे दिए हैं.

बच्चों की ठेकेदार का टेंडर निरस्त करने की मांग के संदर्भ में कोटवाल ने कहा कि यह फ़ैसला उच्चाधिकारियों को कहना है. अलबत्ता वह मौके से मुआयने की अपनी रिपोर्ट दे देंगी.
Loading...
(मनोज जुयाल की रिपोर्ट)
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर