Home /News /uttarakhand /

roorkee gang rape case update no arrest aap criticizes congress protests bjp says no politics please

Roorkee Gang Rape: गिरफ्तारी न होने पर विपक्ष हमलावर, सड़क पर उतरे कांग्रेसी तो BJP ने कहा 'राजनीति न करें'

रुड़की में सामूहिक दुष्कर्म मामले में पांच दिन बाद भी गिरफ्तारी नहीं हो सकी.

रुड़की में सामूहिक दुष्कर्म मामले में पांच दिन बाद भी गिरफ्तारी नहीं हो सकी.

हरिद्वार ज़िले के रुड़की में पांच दिन पहले हुए सामूहिक दुष्कर्म के मामले में अब राजनीति तेज़ हो गई है. बयानबाज़ी के अलावा अब ​विपक्ष के कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर इस केस को मुद्दा बना रहे हैं, तो बीजेपी विधायक पीड़ितों को मुआवज़ा दिए जाने की जानकारी दे रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

रुड़की. चलती कार में 24 जून को एक मां, बेटी के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म के मामले में गिरफ्तारी तो कोई नहीं हो सकी, पर अब राजनीतिक पार्टियां अपनी रोटी सेकने लगी हैं. महिला आयोग द्वारा इस मामले की जांच करवाए जाने के बीच भाजपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के नेता अस्पताल पहुंचकर पीड़िताओं का हाल जान रहे हैं और बयान दे रहे हैं. इस बीच कांग्रेसियों ने शहर में विरोध प्रदर्शन कर सरकार को खूब कोसा, तो भाजपाई विधायक ने विपक्ष के पास मुद्दों की कंगाली का कटाक्ष कर दिया.

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने गैंगरेप के इस मामले को लेकर चंद्रशेखर चौक पर मंगलवार को मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया और प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाज़ी की. कांग्रेसियों ने आरोप लगाया कि राज्य में कानून व्यवस्था बिगड़ती जा रही है. स्थानीय कांग्रेसियों ने कहा, ‘बीजेपी सराकर ने ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ का नारा दिया लेकिन शर्मनाक यह है कि 6 साल की बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म के आरोपी अब तक गिरफ्तार नहीं हुए. प्रदेश सरकार की लापरवाही साफ दिख रही है. जल्द गिरफ्तारी की मांग करते हुए कांग्रेसियों ने उग्र आन्दोलन की चेतावनी भी दी.

वहीं, शाम तक पूर्व कांग्रेसी और आम आदमी पार्टी के नेता जोतसिंह बिष्ट भी पीड़ित मां, बेटी का हालचाल जानने सिविल अस्पताल पहुंचे. उन्होंने कहा कि घटना के चार दिन बाद भी आरोपी पुलिस की पकड़ से दूर हैं, साफ ज़ाहिर होता है कि प्रदेश में कानून व्यवस्था चरमरा गई है. विपक्ष के इन बयानों के बाद स्थानीय विधायक प्रदीप बत्रा भाजपा सरकार के बचाव में आए और कहा कि विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है इसलिए इस मामले में राजनीति की जा रही है.

पीड़ित बच्ची के लिए 50 हज़ार
विपक्ष के तमाम आरोपों और प्रदर्शनों को खारिज करते हुए बत्रा ने कहा, ‘मेरी मुख्यमंत्री धामी से बात हुई है और उन्होंने पीड़ित बच्ची की परवरिश के लिए 50 हज़ार रुपये देने की घोषणा की है. साथ ही, अस्पताल के डॉक्टरों ने भी कहा है कि मां और बेटी अब स्वस्थ हैं और दोनों की अच्छे से देखभाल की जा रही है इसलिए इसको राजनीतिक रूप न दें.’

बाबू हत्याकांड में तीन और गिरफ्तार
इधर, भगवानपुर थाना क्षेत्र में 24 जून को एक गैंगवार में एक युवक की गोली मारकर हत्या किए जाने के मामले में पुलिस ने तीन और आरोपियों को गिरफ्तार किया. पहले दो आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी पुलिस ने तीन और गिरफ्तार आरोपियों के पास से दो तमंचे, दो ज़िंदा कारतूस और 2 खोखे बरामद किए. पुलिस फिलहाल फरार आरोपियों की तलाश जुटी है.

Tags: Gang Rape, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर