लॉकडाउन में मुंबई में फंसे अपने बेटे की याद में कमला बन गईं जरूरतमंदों की अन्नपूर्णा
Pithoragarh News in Hindi

लॉकडाउन में मुंबई में फंसे अपने बेटे की याद में कमला बन गईं जरूरतमंदों की अन्नपूर्णा
पिथौरागढ़ में फंसे मजदूरों को रोजाना भोजन उपलब्‍ध कराती हैं कमला भट्ट.

कमला भट्ट (Kamala Bhatt) कहती हैं कि उन्हें पूरा भरोसा है कि जिस अपनेपन से वो मजदूरों को खिला रही हैं, उसी तरह कोई उनके बेटे का भी मुंबई (Mumbai) में पेट भर रहा होगा.

  • Share this:
पिथौरागढ़. कोरोना (Corona) के आतंक से जिंदगी जैसे ठहर सी गई हैं, कई लोगों के जीवन पर यह वायरस (virus) भारी पड़ रहा है तो कई लोगों को इसके चलते हुए लॉकडाउन (Lockdown) ने अपने घर की चारदीवारी तक सीमित कर दिया है. ऐसे में गरीब तबके के सामने दो जून की रोटी की भी दिक्कतें खड़ी हो गईं हैं. लेकिन, मुश्किलों में कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो इंसानियत की मिसाल साबित हो रहे हैं. पिथौरागढ़ (Pithoragarh) की कमला भट्ट भी इन्हीं में एक हैं.

लॉकडाउन के चलते मुंबई में फंसा है कमला भट्ट का बेटा
दरअसल, कमला का इकलौता बेटा दीपक मुंबई में जॉब करता है. लॉकडाउन के चलते फिलहाल वहां सबकुछ बंद है तो सैलरी भी नही मिल रही है. यहां खुद के हालात भी ऐसे नहीं है कि एकाउंट में कुछ रुपये डाल दे. ऐसे में कमला को अपने बेटे की चिंता सताने लगी. आखिरकार कमला ने कर भला हो, भला की थ्योरी को अपना लिया.

अब कमला हर रोज अपने घर में पिथौरागढ़ में फंसे मजदूरों के लिए खाना बनाती है और कुछ इस अंदाज में मजदूरों को खिलाती है, जैसे वो उसके बच्चे हों. कमला की इस मुहिम में अब आस-पास के लोग भी मदद कर रहे हैं. कमला भट्ट कहती हैं कि उन्हें पूरा भरोसा है कि जिस अपनेपन से वो मजदूरों को खिला रही हैं, उसी तरह कोई उनके बेटे का भी मुंबई में पेट भर रहा होगा.



अपने बेटे की तरह मजदूरों को खिलाती हैं खाना


घर के अलावा कमला राहत शिविरों में ठहरे मजदूरों के लिए भी घर से ही खाना बनाकर ले जाती है. यही नहीं, खाना भी इतना लाजवाब कि खाने वाले हाथ चाटते रह जाए. सब्जी, दाल के साथ कमला मजदूरों को घी लगी रोटी, चटनी और आचार खिलाती हैं. कमला के जज्बे को देख लोग उनकी मदद के लिए आगे भी आ रहे हैं. कोई सब्जी तो कोई आटा कोई चावल और दाल, घी कमला के घर पहुंचा रहा है.

उनके पड़ोस में रहने वाली छात्रा पूजा जोशी बताती हैं कि कमला आंटी ने पूरे इलाके को अपनी मुहिम से जोड़ दिया है, सभी लोग भोजन सामग्री देने के साथ ही, खाना बनाने और खिलाने में भी उनकी मदद कर रहे है.


यह भी पढ़ें: 

कोटद्वार में तिगुनी हुई फल-सब्जी बेचने वालों की तादाद, लॉकडाउन में मिलने वाली छूट का उठा रहे फायदा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading