Home /News /uttarakhand /

जानिए, जेटली के बजट को किसने बताया ग्रोथ ओरिएंटेड और किसने कहा निराशाजनक

जानिए, जेटली के बजट को किसने बताया ग्रोथ ओरिएंटेड और किसने कहा निराशाजनक

    आम बजट को लेकर इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड ने सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है.

    एसोशिएसन का कहना है कि इसबार आम बजट ग्रोथ ओरियेंटेड और संतुलित बजट है, जिसके दूरगामी अच्छे परिणाम सामने आ सकते हैं, उधर मुख्यमंत्री के औद्योगिक सलाहकार रणजीत रावत का कहना है केंद्र सरकार ने निराशाजनक बजट पेश किया है इससे बाजार में निराशा छाई है और उत्तराखंड के हाथ भी कुछ नहीं आया है.

    आम बजट को लेकर कई स्थानों से मिली जुली प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं. बजट से इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड के अध्यक्ष पंकज गुप्ता का कहना है कि एमएसएमई सैक्टर से जुड़े पदाधिकारी लगातार बजट पर नजरे लगाए हुए थे. बजट को लेकर काफी उम्मीदें की जा सकती हैं क्योंकि यह एक संतुलित और ग्रोथ ओरियेंटेड बजट माना जा सकता है.

    एमएसएमई सैक्टर के सामने कई रिफोर्म्स की चुनौतियां हैं जिनको आम बजट से हल होने की संभावना जताई जा रही है. उद्योगपति पंकज गुप्ता का कहना है कि बजट में टैक्स रिफोर्म्स, लेबर रिफार्म्स, अवस्थापना विकास जैसे मुद्दें शामिल किए गये हैं. साथ ही ऑडिट लिमिट बढाकर दो करोड़ करने से भी एमएसएमई सैक्टर को फायदा मिलेगा.

    इसके अलावा एमएसएमई सैक्टर के सामने माल की ़डिमांड की समस्या थी यानि माल की उपलब्धता तो है लेकिन बाजार से उसकी डिमांड कम होने के चलते माल की सप्लाई की समस्या से मझले उद्योगों के सामने चिंता थी लेकिन अब इस बजट से मार्केट डिमांड आने की संभावना बन रही है जिसको उम्मीद भरा कहा जा सकता है.

    क्या बोले मुख्यमंत्री के सलाहकार
    आम बजट को मुख्यमंत्री के सलाहकार रणजीत रावत ने निराशाजनक बताते हुए कहा है कि उत्तराखंड के हाथ ना तो रेल बजट से कुछ आया था और ना ही आम बजट में ही राज्य को कुछ मिला है. रणजीत रावत ने साफतौर पर कहा कि केंद्र सरकार ने छोटी गाडि़यों पर टैक्स बढ़ाकर, रेडीमेड कपड़ों पर टैक्स लगाकर आम आदमी पर बोझ लादा है.

    सीएम के सलाहकार ने केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए कहा है कि बजट से बाजार में निराशा है और बाजार नीचे की तरफ गया है. ये पहली बार है जब देश में रियल स्टेट, शेयर बाजार और सोना कारोबार सभी एकसाथ मंदी की मार झेल रहे हैं. इसलिए इस बजट से सभी को निराशा हुई है. इसमें आयकर में भी छूट नहीं बढ़ाई गई है.

    मुख्यमंत्री के सलाहकार ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उत्तराखंड को ग्रीन बोनस, औद्योगिक पैकेज़, विशेष आर्थिक सहायता और चौदहवें वित्त आयोग के बाद से हुए नुकसान की भरपाई के लिए केंद्र की मदद की जरुरत थी लेकिन आम बजट में इनपर किसी भी रूप में ध्यान नहीं दिया गया है यहां तक कि अर्थकुम्भ भी राज्य सरकार ने बिना किसी केंद्रीय मदद के आयोजन कराया है.

    Tags: Arun Jaitely, Congress, Uttarakhand news, उत्तराखंड

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर