अपना शहर चुनें

States

हरिद्वार कुंभ: श्रद्धालुओं की गंगा डुबकियां गिनेगी पुलिस, यहां पढ़ें क्या होगा नया नियम

1पुलिस सूचना केंद्र से तीन डुबकी लगाने के लिए अनाउंसमेंट करेगी. (PTI)
1पुलिस सूचना केंद्र से तीन डुबकी लगाने के लिए अनाउंसमेंट करेगी. (PTI)

हरिद्वार (Haridwar) में पहुंच रही भीड़ के कारण गंगा (Ganga) घाटों पर डुबकी लगाने के नियम बदल दिए गए हैं. नए नियम के बाद अब यहां सिर्फ तीन ही डुबकियां लगाई जा सकेंगी.

  • Share this:
हरिद्वार. हरिद्वार कुंभ मेला  (Haridwar Kumbh) में भीड़ को व्यवस्थित रखने के लिए स्नान की नई व्यवस्था लागू की गई है. पुलिस ने माना कि गंगा घाटों पर बुड़की लगाने वाले लोगों को ज्यादा देर रोकना यहां भीड़ को बेकाबू करने को न्योता देना है. इसी के तहत अब यहां पहुंचने वाले सभी श्रद्धालु गंगा स्नान कर पुण्य कमा सकें इसके लिए नई व्यवस्था लागू की है. इस व्यवस्था के तहत हरकी पैड़ी और आसपास के गंगा घाटों में स्नान करने वाले श्रद्धालु तीन ही डुबकी लगा सकेंगे. इसके बाद श्रद्धालुओं को गंगाजी से बाहर आना होगा, ताकि हरकी पैड़ी स्नान को पहुंच रहे प्रत्येक श्रद्धालु स्नान कर सकें. पुलिसकर्मी सीढ़ियों पर ही तैनात रहकर लोगों को इस बात की जानकारी भी देंगे.

संक्रांति के साथ ही हरिद्वार कुंभ में डुबकी लगाने वालों की भीड़ पहुंचने लगती है. यहां पूरी दुनियाभर से लोग पहुंचते हैं. इसी कारण सुरक्षा के लिहाज से संवेदनशील हरकी पैडी पर स्नान करना किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है. बताते हैं कि यहां हर पांच मिनट में हरकी पैडी पर 10 हजार लोग स्नान कर सकते हैं. कुछ पर्व स्नान पर इतनी भीड़ उमड़ती है कि हरकी पैड़ी और आसपास के घाट फुल हो जाते हैं. लगातार भीड़ आने से यहां के घाट लबालब भर जाते हैं जिस कारण हरकी पैड़ी पर दबाव बन जाता है. बीते साल सोमवती अमावस्या के स्नान पर यह सब देखने को मिला था.

भीड़ काबू करने बनी ये योजना
कुंभ में दोबारा डुबकी लगाने वालों की भीड़ काबू से बाहर न हो इसके लिए तीन डुबकी लगाने की योजना बनाई जा रही है. तीन डुबकियों से ज्यादा लगाने वालों पर पुलिस फोकस करेगी. यह इसलिए किया जा रहा है ताकि भीड़ न हो और हरकी पैड़ी पर हर कोई स्नान कर सकें. कहा जाता है कि तीन डुबकी लगाने से तीनों लोकों का फल मिल जाता है.
ये भी पढ़ें: बिहार पक्षी महोत्सव: जुमई के नागी-नकटी बर्ड सेंचुरी में 'कलरव' शुरू, जानें क्या रहेगा खास



यह व्यवस्था पिछले कुंभ के अनुभव को देखकर की गई है. पिछले कुंभ के लिए कहा जाता है कि उस वक्त इतनी भीड़ उमड़ गई थी कि लोगों को हरकी पैड़ी जाने तक नहीं दिया गया था. जो लोग हरकी पैड़ी पहुंचे थे उन्हें भी भागमभाग में स्नान करना पड़ा था. आईजी मेला संजय गुंज्याल ने बताया कि अब पुलिस सूचना केंद्र से तीन डुबकी लगाने के लिए अनाउंसमेंट करेगी. हरकी पैड़ी के अलावा भीड़ वाले गंगा घाटों में भी यही व्यवस्था की जाएगी. इसके लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज