नैनीताल के ओखलकांडा में 13 साल की बच्ची को तेंदुए ने बनाया शिकार, गुफा के पास मिला शव

तेंदुआ ने एक 13 साल की बच्ची को अपना शिकार बनाया है. 
 (सांकेतिक तस्वीर)
तेंदुआ ने एक 13 साल की बच्ची को अपना शिकार बनाया है. (सांकेतिक तस्वीर)

नैनीताल (Nainital) के ओखकांडा के एक गांव में तेंदुआ (Leopard) ने 13 साल की लड़की पर हमला कर दिया और उसका उठाकर गुफा में ले गया, जिससे उसकी मौत हो गई. इसके बाद से वन विभाग ने तेंदुए को पकड़ने के लिए गांव के पास पिंजड़ा लगाया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 22, 2020, 12:27 PM IST
  • Share this:
नैनीताल. ओखलकांडा के तुषराड़ में मां के साथ खेत में घास काटने गई 13 साल की लड़की को पर तेंदुए (Leopard) ने हमला कर दिया है और उसको मार डाला. अब वन विभाग की टीम ने तेंदुए को पकड़ने के लिए गांव पास पिंजरा लगाया है. वहीं वन विभाग (Forest Department ) ने लड़की के परिजनों को तीन लाख की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है.

नैनीताल के दूर-दराज के ब्लॉक ओखकांडा के एक गांव में तेंदुआ ने हमला कर 13 साल की लड़की को अपना निवाला बना डाला. खेत में काम कर रही लड़की पर अचानक हुये हमले में मां कुछ समझ पाती इससे पहले ही बेटी को लेकर तेंदुआ उठाकर गुफा के अंदर चला गया. मां ने हल्ला किया तो ग्रामीण जमा हुए, लेकिन तब तक तेंदुआ नेहा कफल्टिया की जान ले चुका था. वहीं मृतका के घर में मातम पसरा हुआ है.

PHOTOS: पर्यटकों के बढ़ने से बढ़ा कोरोना का खतरा... नैनीताल में कैंप लगाकर लिए गए कोरोना के सैंपल




गांव में लगाया गया पिंजरा
इस घटना के बाद से गांव में दहशत का माहौल है, जबकि इलाके में गुस्से का माहौल है. इसके बाद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने डीएफओ नैनीताल से बात की. भगत के निर्देश पर डीएफओ ने इलाके में पिंजरे लगाने के निर्देश दिए हैं. गुरुवार सुबह वन विभाग ने इलाके में पिंजरा लगा दिया है.

लगातार लोगों को निशाना बना रहा तेंदुआ
19 सितंबर से लेकर 12 अक्टूबर तक गुलदार पिथौरागढ़, अल्मोड़ा, बागेश्वर, नैनीताल में कुल 15 लोगों को अपना निशाना बना चुका है, जिसमें से छह लोग तेंदुए का निवाला बन चुके हैं, जिससे हर गांव में दहशत का माहौल है.

वन विभाग ने जारी की एडवाइजरी 
तेंदुए बढ़ते हमलों को देखते हुए वन विभाग जंगलों के किनारे रहने वाले लोगों के लिए कई तरह की एडवाइजरी जारी कर रहा है, जिसके जरिए गुलदार के हमलों से बचा जा सकता है. वन विभाग ने शाम के समय लोगों से जंगलों में न जाने, सुनसान जगहों से बचने, सुबह जल्दी न उठने, घर के आस-पास उजाले की व्यवस्था करने और खेत में काम करते हुए मुखौटों का प्रयोग करने को कहा है. ताकि ज्यादातर आगे से हमला करने वाला गुलदार एकदम से हमला न कर सके.

रिपोर्ट- शैलेंद्र सिंह नेगी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज