Home /News /uttarakhand /

पतंजलि के प्रोडक्शन मैनेजर की हत्या का खुलासा

पतंजलि के प्रोडक्शन मैनेजर की हत्या का खुलासा

हरिद्वार थाना कनखल पुलिस ने बीती 30 मार्च को हनुमंतपुरम कॉलोनी मे हुई पतंजलि फूड पार्क के सहायक मैनेजर अनिल यादव की हत्या का खुलासा करने का दावा करते हुए  दो आरोपियो को गिरफतार किया। जबकि दो आरेापी अभी फरार बताये जा रहे हैं।

हरिद्वार थाना कनखल पुलिस ने बीती 30 मार्च को हनुमंतपुरम कॉलोनी मे हुई पतंजलि फूड पार्क के सहायक मैनेजर अनिल यादव की हत्या का खुलासा करने का दावा करते हुए  दो आरोपियो को गिरफतार किया। जबकि दो आरेापी अभी फरार बताये जा रहे हैं।

हरिद्वार थाना कनखल पुलिस ने बीती 30 मार्च को हनुमंतपुरम कॉलोनी मे हुई पतंजलि फूड पार्क के सहायक मैनेजर अनिल यादव की हत्या का खुलासा करने का दावा करते हुए  दो आरोपियो को गिरफतार किया। जबकि दो आरेापी अभी फरार बताये जा रहे हैं।

हरिद्वार थाना कनखल पुलिस ने बीती 30 मार्च को हनुमंतपुरम कॉलोनी मे हुई पतंजलि फूड पार्क के सहायक मैनेजर अनिल यादव की हत्या का खुलासा करने का दावा करते हुए  दो आरोपियो को गिरफतार किया। जबकि दो आरेापी अभी फरार बताये जा रहे हैं।

दोनो आरोपी पतंजलि फूड पार्क के ही कर्मचारी है जिन्होने डयूटी शिफ्ट को लेकर अनिल यादव से चल रहे मनमुटाव के चलते अपने छोटे भाई और उसके साथी से हत्या की घटना को अंजाम दिलवाया था।

पुलिस ने हत्या मे इस्तमाल किया गया एक  देसी तमंचा भी बरामद किया है। योग गुरू बाबा रामदेव की कम्पनी पतंजलि फूड पार्क के सहायक मैनेजर की 30 मार्च को पार्क से  घर लोैटते समय हुनमंतपुरम कॉलोनी मे घर के सामने अज्ञात बाइक सवार बदमाशो ने गोली मारकर हत्या कर दी थी ।

हत्या के खुलासे के लिए एसएसपी हरिद्वार ने तीन टीमे बनाई थी। टीम ने फूड पार्क के करीब 200 लोगो से अलग अलग पूछताछ की तो कम्पनी के कर्मचारी कुलवन्त और डी पी सिहॅ की मृतक अनिल यादव से शिफ्ट को लेकर कहासुनी की बात सामने आई।

जब कुलवन्त और डी पी सिहॅ को अपने उपर पुलिस के शक होने की अंदेशा हुर्इ् तो देानो फरार हो गये आज पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर दोनेा को जगजीतपुर के पास से गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस के अनुसार कुलवन्त ने अपने साथी डी पी सिहॅ के साथ मिलकर अपने छोटे भार्इ् अमरेश और उसके साथी निशान्त से अनिल यादव को सबक सिखाने के लिए उसकी हत्या करवाई थी।

पुलिस की पकड में आये आरोपी कुलवन्त का कहना है कि अनिल यादव डयूडी लगाने मे भेदभाव करता था। उसे डाराने के उददेश्य से उसने अपने छोटे भाई उसे सबक ​सीखाने के लिए कहा था।

वो उसके पेैर मे गोली मारकर  उसे डराना चाहते थे लेकिन गोली उसके पेट मे लग गर्इ् और उसकी मौत हो गई । जिसका उनको अफसोस है।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर