हल्द्वानी से आए 10 लोगों ने नैनीताल में की पार्टी, पुलिस ने पकड़ा तो करने लगे बहस, फिर कोतवाल ने...

पार्टी के बाद पुलिस से बहस करते लोग (फाइल फोटो)
पार्टी के बाद पुलिस से बहस करते लोग (फाइल फोटो)

स्थानीय सभासद मनोज जगाती ने कहा कि अभी नैनीताल में कोरोना (Corona) का कोई भी पॉजिटिव मरीज नहीं है. लेकिन जिस तरह से लोग आ रहे हैं किसी को सूचना दिये बगैर, उससे कोरोना फैलने का खतरा है.

  • Share this:
नैनीताल. एक तरफ पूरा देश कोरोना (Corona) की मार झेल रहा है, तो कई लोग ऐसे हैं जो इसे बिल्कुल हल्के में ले रहे हैं. देश में ये महामारी ज्यादा ना फैले इसके लिये लॉकडाउन (Lockdown) लागू किया गया है और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा गया है. कई लोग तब भी इसका उल्लंघन कर रहे हैं. रविवार को नैनीताल में कुछ लोगों ने पहले तो लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन किया, उसके बाद भी वे बाज नहीं आए तो पुलिस को ही हड़काते दिखे. दरअसल, पहले तो कुछ लोग हल्द्वानी से बिना किसी खबर के नैनीताल में पार्टी मनाने पहुंचे. जब स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी तो इन लोगों ने पुलिस स्टेशन में जमकर उत्पात मचाया.

मामला रविवार का है जब हल्द्वानी से बिना किसी सूचना के 10 लोग एक साथ शहर के आयारपाटा वाले इलाके में पहुंचे. तीन बड़ी गाड़ियों में पहुंचे इन लोगों के यहां आने की खबर आम हुई तो स्थानीय सभासद के साथ अन्य लोगों ने इनकी शिकायत नैनीताल पुलिस को की. जब पुलिस इनके पास पहुंची तो इन लोगों ने राजनीतिक रसूख का इस्तेमाल कर उनको वहां से भगा दिया. इसके बाद कोतवाली की टीम ने इनको थाने में बुलाया तो ये पुलिस पर ही बिफर पड़े और उनको देख लेने की बात कहने लगे.

कई घंटों तक चलता रहा उत्पात
पुलिस स्टेशन आने के बाद भी इनकी हेकड़ी कम नहीं हुई. इससे पहले पुलिस मौके पर पहुंची तो इन्होंने 8 ही लोग होने का दावा किया जिसके बाद जब खोजबीन की तो पता चला कि ये 10 लोग थे. पुलिस स्टेशन पर घंटों तक ये पुलिस से उलझते रहे जिसके बाद पुलिस ने इनको शांत किया और 5 हजार का इन लोगों का चालान काटा गया. नैनीताल कोतवाल अशोक कुमार ने कहा कि इन लोगों के पास ना तो मेडिकल था और ना ही एक साथ आने की कोई परमिशन. लेकिन पूछताछ में भी इन्होंने पुलिस को गुमराह किया. कोतवाल अशोक कुमार ने बताया कि इन लोगों का चालान काटकर हिदायत दी है कि वो वापस जाकर स्थानीय पुलिस स्टेशन में सूचना देंगे और जो भी नियम हैं उनको फोलो करेंगे. अगर फिर उल्लंघन करते हैं तो इनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी.




स्थानीय लोगों की जागरुकता आई काम
स्थानीय सभासद मनोज जगाती ने कहा कि अभी नैनीताल में कोरोना का कोई भी पॉजिटिव मरीज नहीं है. लेकिन जिस तरह से लोग आ रहे हैं किसी को सूचना दिये बगैर, उससे कोरोना फैलने का खतरा है. अगर वो लोग जागरुक नहीं रहेंगे तो अन्य लोगों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें: उत्तराखंड: कोरोना संकट के बीच डेंगू का भय बरकरार, आम लोगों की सतर्कता जरूरी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज