पॉकेट मनी से की तीन छात्राओं ने ज़रूरतमंदों को मदद की शुरुआत... अब संकल्प है कि कोई भूखा नहीं सोएगा
Nainital News in Hindi

पॉकेट मनी से की तीन छात्राओं ने ज़रूरतमंदों को मदद की शुरुआत... अब संकल्प है कि कोई भूखा नहीं सोएगा
नैनीताल की तीन इंजीनियरिंग छात्राएं अदिति, सौम्या और रुचि अपनी पॉकेट मनी से लोगों की मदद कर रही हैं.

तीनों छात्राएं हर रोज 20 लोगों तक राशन की किट पहुंचा रही हैं. इस किट में घर की ज़रूरत का सारा सामान है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नैनीताल. एक शुरुआत हुई, दोस्तों का मिला साथ और कारवां बनता गया. कहानी नैनीताल की तीन इंजीनियरिंग छात्राओं की है जो अपने पॉकेट मनी को बचाकर लोगों की मदद कर रही हैं. अदिति, सौम्या और रुचि ने कोरोना संकट के दौरान लोगों तक मदद देने की ठानी और अब तीनों छात्राएं हर रोज 20 लोगों तक राशन की किट पहुंचा रही हैं. इस किट में घर की ज़रूरत का सारा सामान है. इनके इस काम में तल्लीताल थाने के एसआई दिलीप पूरी मदद कर रहे हैं. पुलिस पहले घरों और लोगों का चिन्हिकरण करती है कि वास्तव में किसे मदद की ज़रूरत है. इसके बाद ये बच्चे अपने जेब खर्चे से गांव में जाकर राशन व अन्य सामान पहुंचाते हैं.

मदद का आइडिया

दरअसल लॉकडाउन से बढ़ी परेशानियों के बाद लोगों को आ रही दिक्कतों को देख इन छात्राओं में लोगों की मदद करने का जज़्बा पैदा हुआ. इसके बाद इन लोगों ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर एक कोरोना हेल्प ग्रुप तैयार किया. स्कूल की सभी छात्राएं जुड़ीं तो पहले दिन इन्होंने 6 हज़ार की रकम एकत्र की और सामान खरीद लिया, जो लोगों तक सीधे पहुंचाया जाता है.



अब इन छात्राओं को आस-पड़ोस और अन्य लोग भी पैसा और ज़रूरी सामान उपब्लध करा रहे हैं.



कोई भूखा न सोए

राजस्थान वनस्थली कॉलेज से इंजीनियरिंग की पढाई कर रही छात्रा अदिति नेगी ने बताया कि उन लोगों तक मदद पहुंचाने के लिए इसकी शुरुआत की गई थी जो वाकई संकट में हैं. द्वाराहाट इंजीनियरिंग कॉलेज की छात्रा सौम्या कहती है कि लोगों तक पहुंच रहे हैं तो उनके मन में और मदद करने की भावना आ रही है.

इनकी साथी रुचि कहती हैं कि कोई भूखा ना सोए यह मिशन लेकर समाजसेवा कर रही हैं जिसके लिए वह अपनी पाँकेट मनी को खर्च कर रही है जो एक सही कार्य में खर्च हो रही है.

तीनों सहेलियां विश्वास के साथ यह कहती है कि ज़रूरतमंदों को मदद मिलती रहेगी और उनका यह अभियान जारी रहेगा.

पुलिस प्रशासन की मदद

नैनीताल ज़िला प्रशासन ने राशन व खाद्य सामाग्री बांटने के नाम पर सोशल डिस्टेंसिंग को दरकिनाए किए जाने और राशन बांटते हुए फ़ोटो खींचकर सोशल मीडिया में प्रचार हासिल करने की प्रवृत्ति को रोकने के लिए नियम बनाया कि कोई भी खुद राशन नहीं बांट सकेगा.

इसके बाद इन छात्राओं ने जिला प्रशासन से अनुमति ली और नियमों का पालन करने का प्रमाण पत्र दिया. इसके बाद तल्लीताल पुलिस ने गांवों में गरीब असहाय और विकलांगों की लिस्ट तैयार की, जिनको अब ये मदद पहुंच रही है.

 
First published: April 10, 2020, 10:45 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading