नैनीतालः समलैंगिक बेटे की जबरन कराई शादी, फिर बोला बाप- तुम नहीं कर सकते तो मैं पैदा करूंगा पोता
Nainital News in Hindi

नैनीतालः समलैंगिक बेटे की जबरन कराई शादी, फिर बोला बाप- तुम नहीं कर सकते तो मैं पैदा करूंगा पोता
नैनीताल के मल्लीताल थाने में नाबालिग युवक ने अपने पिता पर जबरन शादी करवाने का आरोप लगाते हुए एफ़आईआर दर्ज करवा दी है. यु

नैनीताल में समलैंगिक युवक ने पिता के ऊपर नाबालिग लड़की से शादी कराने का लगाया आरोप. युवक का यह भी आरोप है कि उसके पिता ने धमकी दी है कि अगर वह पत्नी के साथ शारीरिक संबंध नहीं बनाएगा तो पिता बना लेंगे.

  • Share this:
नैनीताल. हाल में आई वेब सीरीज 'मिर्जापुर' (Mirzapur web series) अगर आपने देखी हो, तो अखंडानंद त्रिपाठी के 'बाबूजी' का किरदार आपको जरूर याद होगा, जिसमें वह अपनी बहू का यौन शोषण करता दिखा है. उत्तराखंड के नैनीताल में भी कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है. यहां एक नाबालिग युवक ने अपने पिता के ऊपर जबरन शादी करने का आरोप लगाते हुए FIR दर्ज कराई है. युवक का कहना है कि जिस लड़की से उसकी शादी करवाई गई है, वह भी नाबालिग है. लॉकडाउन के चलते 20 मार्च को यूपी में हुई शादी की शिकायत वह दर्ज नहीं करवा पाया था. अब शिकायत इसलिए कर रहा है क्योंकि लड़की से शारीरिक संबंध न बनाने पर पिता उसे जान से मारने या खुद उसकी पत्नी से शारीरिक संबंध बनाने की धमकी दे रहे हैं. युवक का कहना है वह पत्नी के साथ नहीं रहना चाहता, क्योंकि वह समलैंगिक है और एक युवक के साथ रहना चाहता है.

जबरन करवाई शादी

शिकायतकर्ता का कहना है कि 20 मार्च को यूपी के टांडा बिलासपुर ले जाकर उसकी शादी करवाई गई थी. इसके बाद वह बाद नैनीताल लौटे तो उसके पिता 16 साल की उसकी पत्नी से शारीरिक संबंध बनाने का दवाब डाल रहे हैं. उसने आरोप भी लगाया कि उसके पिता यहां तक की धमकी दे रहे हैं कि अगर वह पत्नी के साथ संबंध नहीं बनाएगा तो पिता युवती के साथ शारीरिक संबंध बना लेंगे.



एफ़आईआर में हुई देरी पर नाबालिग युवक ने कहा कि लॉकडाउन के चलते वह बाहर नहीं जा सकते थे और इस दौरान डर था कि उनके परिवार उन्हें प्रताड़ित करेंगे या मार देंगे. अब वह एक सामाजिक संस्था के साथ कोतवाली में एफआईआर दर्ज करने पहुंचे हैं.



युवक ने यह भी कहा कि उसके पिता शिकायत को वापस लेने का दबाव डाल रहे हैं लेकिन ऐसा करने पर पिता व अन्य लोग उसको यूपी ले जाकर जान से मार देंगे. युवक ने कहा कि वह समलैंगिक है और अपने साथी के साथ रहना चाहता है. यही इस सारे विवाद की जड़ है.

इधर पिता ने कहा- बेटे की मानसिक स्थिति ठीक नहीं

शिकायतकर्ता के पिता ने बेटे के सभी आरोपों को गलत बताते हुए कहा कि यह उनका गोद लिया बेटा है. गोद लेते समय बिना किसी जांच के इसकी जन्मतिथि लिखा दी गई थी और अब यह उसी को आधार बनाकर कोतवाली आया है. सिद्दकी ने कहा कि उन्होंने अपने बेटे को कोई कमी नहीं होने दी और अच्छे स्कूल में भर्ती किया था लेकिन उसकी मानसिक दशा ठीक नहीं है. इस कारण वह इस तरह का कदम उठा रहा है. उन्होंने कहा कि उनके बेटे को इलाज की ज़रूरत है, जिसके बारे में पुलिस को भी बताया गया है.

यूपी भेजा गया मामला

तल्लीताल पुलिस ने पहले तो इस मामले को बाप-बेटे के बीच बातचीत से सुलझवाना चाहा, लेकिन बेटा समझौते के लिए तैयार नहीं हुआ. इसके बाद युवक की तहरीर पर नैनीताल पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर टांडा बिलासपुर जांच के लिए मामले को रेफ़र कर दिया है. नैनीताल के कोतवाल अशोक कुमार के अनुसार घटनाक्रम यूपी टांडा बिलासपुर का है, इसलिए आगे कार्रवाई के लिए केस को टांडा बिलासपुर थाने के लिए भेज दिया गया है.

यह भी देखें: 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading