Home /News /uttarakhand /

27 अप्रैल तक आंगनबाड़ी वर्कर्स और भोजन माताओं को मिल जाएगा मार्च का वेतन

27 अप्रैल तक आंगनबाड़ी वर्कर्स और भोजन माताओं को मिल जाएगा मार्च का वेतन

सुप्रीम कोर्ट ने सरकार के पक्ष में फैसला दिया था. कोर्ट के फैसले की वजह से पिछले वर्ष जुलाई से एलटी से पदोन्नति पर रोक लगा दी गई थी. (फाइल फोटो)

सुप्रीम कोर्ट ने सरकार के पक्ष में फैसला दिया था. कोर्ट के फैसले की वजह से पिछले वर्ष जुलाई से एलटी से पदोन्नति पर रोक लगा दी गई थी. (फाइल फोटो)

उत्तराखंड हाईकोर्ट (High Court Of Uttarakhand) ने राज्य सरकार से कहा है कि वो 27 अप्रैल तक ये बताएं कि आंगनबाड़ी वर्कर्स और भोजन माताओं को मार्च महीने का वेतन दिया गया है कि नहीं.

नैनीताल. उत्तराखंड (Uttarakhand) के करीब 60 हजार आंगनबाड़ी वर्कर्स और भोजन माताओं को मार्च महीने का वेतन मिलने का रास्ता साफ हो गया है. राज्य सरकार ने उत्तराखंड हाईकोर्ट (High Court Of Uttarakhand) में बताया कि ये स्कीम केंद्र सरकार की है और केंद्र सरकार ने राज्य के खाते में पैसा आवंटित कर दिया है, जिसका भुगतान सोमवार (27 अप्रैल) तक सभी भोजन माताओं और आंगनबाड़ी वर्कर्स के खाते में कर दिया जाएगा. सरकार की इस दलील के बाद हाईकोर्ट ने सरकार से कहा है कि वो 27 अप्रैल तक ये बताएं कि मार्च महीने का वेतन दिया गया है कि नहीं.

क्या था मामला
दरअसल, राज्य में काम कर रही भोजन माताओं और आंगनबाड़ी वर्कस की मार्च महीने की सैलरी नहीं दी गई थी जिसको लेकर ललिता रावत ने हाईकोर्ट में चुनौती दी. वहीं, महिला एकता मंच की तरफ से दायर जनहित याचिका की पैरवी दिल्ली हाईकोर्ट के वकील कमलेश कुमार द्वारा की गई. याचिका में कोर्ट से कहा गया कि राज्य सरकार ने भोजन माताओं और वर्कर्स को मार्च महीने की सैलरी नहीं दी गई और ना ही कोई अन्य प्रकार की सहायता उनको सरकार की तरफ से दी गई है. वेतन ना मिलने से उनके सामने भरणपोषण का संकट खड़ा हो गया है, लिहाजा सरकार को निर्देश दिए जाएं कि उनकी सैलरी दी जाए.

हाईकोर्ट ने सरकार के वकील को निर्देशित दिया कि अगली सुनवाई की तिथि 27 अप्रैल तक वे बताएं कि सभी आंगनबाड़ी वर्कर्स, सहायिकाओं, मिनी आंगनबाड़ी तथा भोजन माताओं को उनके बकाया पारिश्रमिक का भुगतान किया गया है अथवा नहीं.

ये भी पढ़ें-

महिलाओं के खिलाफ अपराध में बढ़ोतरी, हर महीने आ रही हैं औसतन 2700 शिकायतें

Lockdown: उत्तराखंड में 62 हजार वाहन चालक परिवारों पर रोटी का संकट!

Tags: Nainital news, Uttrakhand

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर