Uttarakhand News: सल्ट उपचुनाव में निर्णायक भूमिका में दलित मतदाता, BJP-कांग्रेस ने रिझाने में झोंकी ताकत

भाजपा ने यशपाल आर्य तो कांग्रेस ने प्रदीप टम्टा को मोर्च पर लगाया है.

भाजपा ने यशपाल आर्य तो कांग्रेस ने प्रदीप टम्टा को मोर्च पर लगाया है.

सल्ट विधानसभा उपचुनाव (Salt Assembly By-election) में बीजेपी और कांग्रेस (BJP and Congress) ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. यह चुनाव दोनों दलों के लिए नाक की लड़ाई बना हुआ है.

  • Share this:
रामनगर. उत्तराखंड की सल्ट विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव (Salt Assembly By-election) में बीजेपी और कांग्रेस (BJP and Congress) में कड़ी टक्कर है. ऐसे में दोनों ही दलों ने दलित वोटों पर फोकस किया हुआ है. बीजेपी की ओर से जहां कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य (Yashpal Arya) ने मोर्चा संभाला है, तो वहीं कांग्रेस ने राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा को मैदान में उतारा है. 96241 मतदाताओं वाली सल्ट विधानसभा में करीब 15 प्रतिशत दलित मतदाता बताए जा रहे हैं. ऐसे में दलित वोटर एक महत्वपूर्ण फैक्टर है.

माना जा रहा है कि दलित वोट जिसकी ओर जाएंगे जीत का सेहरा उसके सिर बंधेगा. बीजेपी की ओर से कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य ने पूरी तरीके से मोर्चा संभाला हुआ है. बीजेपी ने सल्ट विधानसभा उपचुनाव के लिए उन्हें चुनाव की बागडोर दी हुई है और वह लगातार दलित सम्मेलन आयोजित कर दलितों को रिझाने के काम कर रहे हैं. यशपाल आर्य की यदि मानें तो दलित समाज में अब बदलाव देखने को मिल रहा है. उन्हें पूरा विश्वास है कि इस बार दलितों का आशीर्वाद बीजेपी के प्रत्‍याशी महेश जीना को भरपूर मिलने जा रहा है.

कांग्रेस ने भी लगाया पूरा जोर

कुमाऊं में कांग्रेस से का चेहरा माने जाने वाले राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा भी रेस में पीछे नही हैं. चुनाव का ऐलान होने के साथ ही वह भी सल्ट में डेरा डाले हुए हैं. वह भी जगह-जगह जाकर अनुसूचित जाति के लोगों में पैठ बनाने के प्रयास में हैं. ऐसे में कांग्रेस को यकीन है कि उनका परम्परागत वोट इस चुनाव में भी उनके साथ होगा. कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह कहते हैं कि दलितों का साथ हमेशा कांग्रेस ने ही दिया है. कांग्रेस ने ही उन्हें आरक्षण से लेकर अन्य लाभ दिया है.
इस रण में कौन दलितों को कितना रिझा पाने में सफल होता है यह तो 2 मई को ही पता चल पायेगा, लेकिन यह उपचुनाव बीजेपी और कांग्रेस के लिए नाक की लड़ाई बना हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज