बीजेपी विधायक देशराज कर्णवाल की जाति क्या है? 31 तारीख तक करना होगा साफ़

याचिका में देशराज कर्णवाल के उत्तराखण्ड का स्थाई निवासी न होने का भी दावा किया गया है और इस आधार पर उनकी विधायकी को निरस्त करने की मांग की गई है.

Virendra Bisht | News18 Uttarakhand
Updated: July 22, 2019, 6:20 PM IST
बीजेपी विधायक देशराज कर्णवाल की जाति क्या है? 31 तारीख तक करना होगा साफ़
हाईकोर्ट की खण्डपीठ ने हरिद्वार जिले की कास्ट स्क्रूटनी कमेटी को आदेश दिया है कि 31 जुलाई तक देशराज कर्णवाल के जाति प्रमाण पत्र मामले पर निर्णय ले.
Virendra Bisht | News18 Uttarakhand
Updated: July 22, 2019, 6:20 PM IST
खानपुर के बिगड़ैल विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन के बीजेपी से निष्कासन से हरिद्वार के ही झबरेड़ा से विधायक देशराज कर्णवाल के चेहरे पर खिली मुस्कान कुछ कम हो सकती है. हाईकोर्ट की खण्डपीठ ने हरिद्वार जिले की कास्ट स्क्रूटनी कमेटी को आदेश दिया है कि 31 जुलाई तक देशराज कर्णवाल के जाति प्रमाण पत्र मामले पर निर्णय ले. बता दें कि बीजेपी विधायक की जाति के स्टेटस को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है और हाईकोर्ट की खंडपीठ इसमें सुनवाई कर रही है.

'ग़लत जाति प्रमाण पत्र देने का आरोप' 

बीजेपी से निष्कासित चैंपियन और देशराज कर्णवाल के बीच लोकसभा चुनावों के दौरान तीखी बयानबाज़ी हुई थी. मीडिया के ज़रिए दोनों ने एक दूसरे को धमकियां तक दी थीं. उस दौरान चैंपियन भी देशराज कर्णवाल के जाति प्रमाण पत्र को फ़र्ज़ी बताते हुए उसे अदालत में चुनौती देने की बात कह रहे थे.

 

कल तक खून के प्यासे चैंपियन और कर्णवाल बने बड़े-छोटे भाई, ड्रामेटिक अंदाज़ में सुलह का ऐलान

हाईकोर्ट में देशराज कर्णवाल की जाति को चुनौती दी है विपिन तोमर नाम के व्यक्ति ने. तोमर ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर दावा किया है कि देशराज कर्णवाल ने अपनी जाति गलत बताकर चुनाव लड़ा है. जिस सीट पर देशराज कर्णवाल ने चुनाव लड़ा वह रिज़र्व थी और वह गलत जाति प्रमाण पत्र देकर चुनाव जीते हैं.

'झबरेड़ा के निवासी' 
Loading...

याचिका में देशराज कर्णवाल के उत्तराखण्ड का स्थाई निवासी न होने का भी दावा किया गया है और इस आधार पर उनकी विधायकी को निरस्त करने की मांग की गई है.

उत्‍तराखंड: हरिद्वार में भिड़े बीजेपी विधायक, कानूनी नोटिस तक पहुंची आपसी तकरार

आज सुनवाई के दौरान देशराज कर्णवाल ने अपना जवाब दाखिल किया और कोर्ट को बताया कि जबसे उत्तराखण्ड बना है तबसे वह झबरेड़ा में रह रहे हैं. विधायक बनने के लिए वोटर लिस्ट में नाम होना ज़रूरी है. कर्णवाल ने कहा कि उन्होंने शपथ पत्र में अपनी जाति सही बताई है इसलिए उनका चुनाव जायज़ है.

चैंपियन-कर्णवाल विवादः अब वीडियो संदेश जारी कर चैंपियन ने दी धमकी, सुनाई गालियां

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नैनीताल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 22, 2019, 6:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...