नैनीताल के भवाली के पास बादल फटा, कई रोड बंद; कैंची धाम मलबे की चपेट में

मलबे की चपेट में हाई-वे पर स्थित बाबा नीम करोली का प्रसिद्ध कैंची धाम भी आ गया.

मलबे की चपेट में हाई-वे पर स्थित बाबा नीम करोली का प्रसिद्ध कैंची धाम भी आ गया.

Nainital Heavy rain: तेज बारिश से रामगढ़ हली कैची में मलबा जमा हो गया है. हली रामगढ़ में फलों के ट्रक फंस गए हैं. सड़क खोलने का काम शुरू नहीं हो सका है.

  • Share this:

नैनीताल.  देवप्रयाग में मंगलवार को बादल फटने की घटना हुई. अब 24 घंटे के भीतर ही आज फिर नैनीताल के भवाली के पास बादल फट गया जिससे इलाके में भारी बारिश के साथ ही मलबा अल्मोड़ा को जोड़ने वाले नेशनल हाईवे पर आ गया. साथ ही इसकी चपेट में हाई-वे पर स्थित बाबा नीम करोली का प्रसिद्ध कैंची धाम भी आ गया. तेज बारिश के साथ बड़े पैमाने में मलवा मंदिर प्रांगण में घुस गया. गनीमत ये रही कि कर्फ्यू के चलते वहां अमूमन रहने वाली भीड़ नहीं थी. घटना में किसी के हताहत होने का समाचार नहीं है.  तेज बारिश से बादल फटने जैसे हालात बन गए हैं. कई स्थानों पर सड़के बंद हैं. तेज बारिश से रामगढ़ हली कैची में मलबा जमा हो गया है.

कैंची मंदिर में भी मलबा आया है और साईं मंदिन में मलबा घुसा है. अल्मोड़ा हल्द्वानी हाईवे 6 स्थानों पर ब्लाक है जिला प्रशासन ने जेसीबी के सड़क खोलने का काम जारी है. कैंची हली हरतप्पा रामगढ़ में तेज बारिश से जनजीवन प्रभावित है. पहाड़ी फल आड़ू की तुड़ाई चल रही हैं तो फलों से लदे ट्रक भी फंसे हैं.  अल्मोड़ा बागेश्वर पिथौरागढ़ केलिए ऑक्सीजन सिलेंडर जा जा रहे उनको भी दिकतें आई है. भवाली से रोड डाइवर्ट किया है. रामगढ़ होते हुए क्वारब अल्मोड़ा के लिए वाहनों को भेजा जा रहा है.

एसडीएम विनोद कुमार ने बताया कि तेज बारिश से 6 स्थानों पर सड़क बंद है. खोलने का कार्य जारी है. रात में सड़क खोल देंगे. वहीं ग्रामीण इलाकों में हुए नुकसान की भी खबरें हैं. सड़क बंद होने के चलते नहीं आज वहां नहीं पहुंच पाए. कल सुबह उन इलाकों का जायजा लिया जाएगा. नैनीताल में तेज बारिश से ग्रामीण इलाकों पर असर पड़ा है. जिलके के रामगढ़, कैंची, हली हरतप्पा में बादल फटने जैसे हालात बने हैं.

इससे पहले, देवप्रयाग में मंगलवार को बादल फटने से आए जलसैलाब में कई भवन जमींदोज हो गए थे. पानी के साथ आए मलबे में 8 दुकानें भी डूब गई थीं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज