Home /News /uttarakhand /

CM रावत पहुंचे शहीद मोहननाथ गोस्वामी के घर, परिजनों को सौंपा 10 लाख का चेक

CM रावत पहुंचे शहीद मोहननाथ गोस्वामी के घर, परिजनों को सौंपा 10 लाख का चेक

सीएम हरीश रावत मंगलवार को जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेते शहीद हुए मोहननाथ गोस्वामी के घर बिंदुखत्ता पहुंचे. सीएम रावत ने शहीद मोहननाथ गोस्वामी की समाधि पर पुष्प चक्र अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की.

सीएम हरीश रावत मंगलवार को जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेते शहीद हुए मोहननाथ गोस्वामी के घर बिंदुखत्ता पहुंचे. सीएम रावत ने शहीद मोहननाथ गोस्वामी की समाधि पर पुष्प चक्र अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की.

सीएम हरीश रावत मंगलवार को जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेते शहीद हुए मोहननाथ गोस्वामी के घर बिंदुखत्ता पहुंचे. सीएम रावत ने शहीद मोहननाथ गोस्वामी की समाधि पर पुष्प चक्र अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की.

    सीएम हरीश रावत मंगलवार को जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेते शहीद हुए मोहननाथ गोस्वामी के घर बिंदुखत्ता पहुंचे. सीएम रावत ने शहीद मोहननाथ गोस्वामी की समाधि पर पुष्प चक्र अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की.

    वहीं शोकाकुल परिवार के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करते हुए सीएम रावत ने दस लाख रुपए की आर्थिक सहायता का चेक भी आश्रितों को सौंपा. इस मौके पर शहीद की शहादत को सलाम करते हुए उनके नाम पर कई योजनाओं का नामकरण करने की भी सीएम ने घोषणा की.

    जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में शहीद हुए लांस नायक मोहननाथ गोस्वामी की शहादत को कौन भूल सकता है. देवभूमि के इस लाल ने जंग के मैदान में दुश्मनों के छक्के छुड़ाते हुए दस आतंकियों को मार गिराया. उनकी शहादत पर परिजनों को सांत्वना देने सूबे के मुखिया हरीश रावत मंगलवार को उनके घर बिंदुखत्ता पहुंचे.

    सीएम के बिंदुखत्ता आने की सूचना पर क्षेत्र के भी सैकड़ों लोग जमा थे. सबसे पहले सीएम ने शहीद की समाधि पर श्रद्धांजलि अर्पित की. उसके बाद वो शहीद के परिजनों से मिले. इस दौरान सीएम ने सरकार की ओर से शहीद की पत्नी को छह लाख रुपए और शहीद की मां को चार लाख रुपए का चेक सौंपा.

    उन्होंने परिजनों से मुलाकात के बाद शहीद मोहननाथ गोस्वामी के नाम पर स्कूल खोले जाने, मिनी स्टेडियम का निर्माण किए जाने और लालकुआं-हल्द्वानी राष्ट्रीय राजमार्ग शहीद के नाम पर किए जाने सहित कई घोषणाएं की. सीएम ने जल्द ही शहीद सैनिकों के परिवारों को उपनल के माध्यम से नौकरी दिए जाने की योजना शुरू करने की भी बात कही है.

    इस दौरान उन्होंने बिंदुखत्ता के तीन कारगिल शहीदों के नाम पर भी तीन शिक्षण संस्थानों का नाम रखे जाने की घोषणा की. वहीं सीएम हरीश से मुलाकात के बाद शहीद की मां राधिका भावुक होकर फफककर रो पड़ी. उन्होंने अपने शहीद बेटे की अंतिम इच्छा मिनी स्टेडियम और उनके नाम पर इंटर तक स्कूल खोले जाने की मांग की, जबकि शहीद की पत्नी भावना ने अपने पैरों पर खड़े होने के लिए नौकरी की मांग की है. वहीं अपने भाई पर आश्रित शहीद के बड़े भाई ने भी सरकार से रोजगार की मांग की है.

     

    Tags: Family members

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर