कॉर्बेट नेशनल पार्क से हटाए जाएंगे वन गुर्जर, प्रशासन ने तेज की कवायद

कॉर्बेट पार्क के ढेला और झिरना रेंज में गुर्जरों के 57 परिवार निवास करते हैं. इन्हें अब शिफ्ट करने की बात चल रही है. उच्च न्यायालय के फैसले के बाद यह कदम उठाया जा रहा है.

Govind Patni | News18 Uttarakhand
Updated: August 12, 2018, 11:23 PM IST
कॉर्बेट नेशनल पार्क से हटाए जाएंगे वन गुर्जर, प्रशासन ने तेज की कवायद
नैनीताल- कॉर्बेट प्रशासन का विकल्प गुर्जरों को भी भा रहा है
Govind Patni
Govind Patni | News18 Uttarakhand
Updated: August 12, 2018, 11:23 PM IST
कॉर्बेट नेशनल पार्क से वन गुर्जरों को विस्थापित करने की कवायद तेज हो गई है. उच्च न्यायालय के आदेश के बाद पार्क प्रशासन ने इऩ्हें पार्क से हटाने का मन बना लिया है. जल्द ही पार्क गुर्जरों से मुक्त हो जाएगा.

कॉर्बेट पार्क के ढेला और झिरना रेंज में गुर्जरों के 57 परिवार निवास करते हैं. इन्हें अब शिफ्ट करने की बात चल रही है. उच्च न्यायालय के फैसले के बाद यह कदम उठाया जा रहा है. इन लोगों के लिए पार्क प्रशासन ने दो विकल्प दिये हैं. पहले विकल्प के तहत इनमें से प्रत्येक परिवार को 10-10 लाख रुपये दिये जाएंगे. यदि उन्हें यह विकल्प पसंद नहीं आता है तो उनके लिये दूसरे विकल्प के तौर पर तराई-पश्चिमी वन प्रभाग में जमीन मुहैया कराई जाएगी.

उधर कॉर्बट प्रशासन का यह विकल्प गुर्जरों को भी भा रहा है. वन गुर्जरों की यदि माने तो उन्हें जमीन देकर यहां से शिफ्ट किया जाता है तो वे इसका स्वागत करेंगे. वे खुद भी यहां से शिफ्ट होना चाहते हैं. यहां वे पीढ़ियों से कई परेशानियों का सामना कर रहने को मजबूर रहे हैं.

गुर्जरों का विस्थापन जहां एक ओर बाघों की सुरक्षा के लिए अनुकूल रहेगा वहीं जंगलों में जीवन गुजार रहे इन वन गुर्जरों को भी जंगल के बाहर हो रहे विकास कार्यों के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने का मौका देगा. इससे इनकी दुनिया भी रोशन हो सकेगी.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर