लाइव टीवी

छात्रों के घरों तक पहुंचेंगी नैनीताल विश्वविद्यालय की डिग्रियां, 1976 से अल्मारियों में धूल खा रही हैं करीब 2 लाख डिग्रियां

Virendra Bisht | News18 Uttarakhand
Updated: November 7, 2019, 3:16 PM IST
छात्रों के घरों तक पहुंचेंगी नैनीताल विश्वविद्यालय की डिग्रियां, 1976 से अल्मारियों में धूल खा रही हैं करीब 2 लाख डिग्रियां
कुमाऊं विश्वविद्यालय ने 43 साल से अल्मारियों में धूल फांक रही करीब दो लाख डिग्रियों को उन्हें हासिल करने वाले लोगों के घर तक पहुंचाने का फ़ैसला किया है.

डिग्री (degree) लेने के इच्छुक छात्र को पोर्टल (Poral) में जाकर अपनी डिटेल्स भरनी होंगी. डिटेल्स कंपलीट होने के बाद बारी-बारी से डिग्रियों को छात्रों के पतों पर पोस्ट कर दिया जाएगा.

  • Share this:
नैनीताल. देश भर के विश्वविद्यालयों में डिग्री (University Degree) के लिए छात्र-छात्राओं के चक्कर काटने की कहानियां और ख़बरें आपने भी पढ़ी-सुनी होंगी. ऐसे में कुमाऊं विश्वविद्यालय (Kumaon University) की पहल आपको थोड़ी अजीब लग सकती है, फ़ील गुड का अहसास दे सकती है. कुमाऊं विश्वविद्यालय ने 43 साल से अल्मारियों में धूल फांक रही करीब दो लाख डिग्रियों को उन्हें हासिल करने वाले लोगों के घर तक पहुंचाने का फ़ैसला किया है. इसके लिए एक वेबसाइट तैयारी की जा रही है, जो जल्द ही काम करना शुरु कर देगी.

धूल फांक रही हैं गाड़ियां 

बता दें कि 1973 में कुमाऊं विश्वविद्यायल की स्थापना की गई थी. विश्वविद्यालय के रिकॉर्ड के अनुसार 1976 से 1992 तक ही दो लाख डिग्रियां पेंड़िंग हैं यानी छात्र-छात्राओं को नहीं दी जा सकी हैं. इसके अलावा 1992 से बाद की डिग्रियां बनाई जानी हैं.

कुमांऊ विश्वविद्यालय की अल्मारियों में इस अवधि के बीच जमा हुई डिग्रियों की संख्या लगभग दो लाख है. कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति एस राणा के अनुसार विश्वविद्यालय अब ऐसी सभी डिग्रियों को उन्हें हासिल करने वाले छात्र-छात्राओं को पहुंचाने जा रहा है.

Kumaon University, डिग्री लेने के लिए छात्रों को अपनी पास की गई परीक्षा की डिटेल के साथ ही ईमेल आईडी, आधार कार्ड की जानकारी देनी होगी. डिग्री के लिए फ़ीस भी ऑनलाइन ही जमा करनी होगी.
डिग्री लेने के लिए छात्रों को अपनी पास की गई परीक्षा की डिटेल के साथ ही ईमेल आईडी, आधार कार्ड की जानकारी देनी होगी. डिग्री के लिए फ़ीस भी ऑनलाइन ही जमा करनी होगी.


डिटेल भरो, फ़ीस दो... डिग्री पोस्ट 

इसके लिए एक वेब पोर्टल तैयार किया जा रहा है. इस पोर्टल के ज़रिए ही डिग्रियां छात्रों तक पहुंचेंगी. कुलपति ने बताया कि डिग्री लेने के इच्छुक छात्र को पोर्टल में जाकर अपनी डिटेल्स भरनी होंगी. डिटेल्स कंपलीट होने के बाद बारी-बारी से डिग्रियों को छात्रों के पतों पर पोस्ट कर दिया जाएगा.
Loading...

कुलपति के अनुसार छात्रों को अपनी पास की गई परीक्षा की डिटेल के साथ ही ईमेल आईडी, आधार कार्ड की जानकारी देनी होगी. डिग्री के लिए फ़ीस भी ऑनलाइन ही जमा करनी होगी जिसके लिए विश्वविद्यालय ने एचडीएफ़सी बैंक के साथ क़रार किया है. सारी फॉर्मेलिटी पूरी करने के बाद विश्वविद्यालय डिग्री छात्र के पते पर पोस्ट कर देगा.

ये भी देखें: 

उत्तराखंड में हायर एजुकेशन का बुरा हाल, सबसे बड़ी यूनिवर्सिटी में 7 साल बाद शुरू हुआ ये कोर्स

उत्तराखंड में गरीब सवर्ण छात्रों को मिलेगा 10 प्रतिशत आरक्षण, शासनादेश जारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नैनीताल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 3:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...