Home /News /uttarakhand /

नहीं खुलेगा कॉर्बेट का ढिकाला जोन, 15 नवंबर को व्यवसायी मनाएंगे काला दिवस

नहीं खुलेगा कॉर्बेट का ढिकाला जोन, 15 नवंबर को व्यवसायी मनाएंगे काला दिवस

रामनगर- पर्यटन व्यवसायियों का विरोध.

रामनगर- पर्यटन व्यवसायियों का विरोध.

कॉर्बेट होटल एंड रिजॉर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष हरिमान ने कहा कि मंगलवार को कॉर्बेट पार्क के बारे में नैनीताल की अदालत में सुनवाई होनी थी. लेकिन उस सुनवाई को जनवरी तक के लिए टाल दिया गया है.

    रामनगर के पर्यटन व्यवसायी 15 नवंबर को काला दिवस मनाएंगे. बता देें कि यहां प्रतिवर्ष 15 नवंबर को कॉर्बेट पार्क के सभी जोन यथावत खुल जाया करते थे. लेकिन इस वर्ष यह नहीं हो पाएगा. इस वर्ष हाईकोर्ट ने कॉर्बेट के ढिकाला जोन में जिप्सियों की संख्या का निर्धारण का कार्य राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण को सौंपा था, जिसे मंगलवार हाईकोर्ट में अपनी रिपोर्ट जमा करनी थी. लेकिन हाईकोर्ट में सुनवाई टल गई. इस कारण पर्यटन प्रदेश के एक हिस्से में पर्यटन शुरू नहीं हो पाएगा. इससे आक्रोशित पर्यटन कारोबारियों ने निर्णय लिया है कि वे 15 नवंबर को अपनी जिप्सियों और कैंटर कॉर्बेट में नहीं भेजेंगे. कॉर्बेट में यदि जिप्सियां नहीं चलेंगी तो इस दिन पर्यटकों को निराश लौटना होगा.

    वहीं पर्यटन कारोबारियों ने निकाय चुनाव के बहिष्कार का भी फैसला लिया है. पर्यटन कारोबारियों का आरोप है कि सरकार की ओर से कोर्ट में ढंग से पैरवी नहीं की जा रही है. इसका खामियाजा उन्हें उठाना पड रहा है.

    कॉर्बेट होटल एंड रिजॉर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष हरिमान ने कहा कि मंगलवार को कॉर्बेट पार्क के बारे में नैनीताल की अदालत में सुनवाई होनी थी. लेकिन उस सुनवाई को जनवरी तक के लिए टाल दिया गया है. साथ ही यह सुनिश्चित नहीं है कि जनवरी माह में कॉर्बेट पार्क खोला जाएगा. उन्होंने कहा कि 15 नवंबर से जो पर्यटन शुरू होना था उसमें वन विभाग ने बहुत सारी बाधाएं डाल दी है. इससे ऐसा ही लगता है कि 15 नवंबर को कॉर्बेट पार्क नहीं खोला जाएगा.

    उन्होंने कहा कि अगर कॉर्बेट पार्क पर्यटन नहीं चाहता है तो हम खुद पर्यटन बंद कर देंगे. उन्होंने कहा कि वे सभी 15 नवंबर को यहां जमा होंगे मगर गाड़ियां नहीं भेजेंगे. उन्होंने कहा कि ऐसा काम ही क्यों करें जब वन विभाग रोजी रोटी नहीं दे पा रहा है. साथ ही एसोसिएशन के अध्यक्ष ने यह भी कहा कि 18 तारीख को होनेवाले निकाय चुनाव का भी वे सभी लोग विरोध करेंगे.

    वहीं वन मंत्री हरक सिंह ने कहा कि हम हाईकोर्ट में लड़ाई लड़ रहे हैं. जैसे ही आचार संहिता समाप्त होगी वैसे ही कुछ महत्वपूर्ण परिवर्तन कर रास्ता निकालने की कोशिश की जाएगी. उन्होंने कहा कि ढिकाला कॉर्बेट की जान है. कॉर्बेट और वाइल्ड लाइफ के प्रेमियों को बड़ा आघात लगा है. उन्होंने उम्मीद जाहिर करते हुए कहा कि अदालत वाइल्ड लाइफ के प्रेमियों की बात को समझने की कोशिश करेगा.

    ये भी पढ़ें - बीजेपी प्रत्याशी पर लगा घर में शराब जमा करने का आरोप, कांग्रेसियों ने किया हंगामा

    ये भी पढ़ें - स्टार प्रचारकों का असर नहीं.... कोटद्वार में स्थानीय मुद्दों ने बनाया चुनाव त्रिकोणीय

    Tags: Uttarakhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर