फ़ीस कर दी 3 गुना, कोर्ट के आदेश को नहीं सुना... आयुर्वेद विवि समेत 13 कॉलेजों को हाईकोर्ट का नोटिस

सरकार के इस फीस बढ़ाने वाले जीओ को पिछले साल हाईकोर्ट ने निरस्त कर दिया था लेकिन हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी मेडिकल कॉलेजों ने फ़ीस कम नहीं की.

Virendra Bisht | News18 Uttarakhand
Updated: August 6, 2019, 3:59 PM IST
फ़ीस कर दी 3 गुना, कोर्ट के आदेश को नहीं सुना... आयुर्वेद विवि समेत 13 कॉलेजों को हाईकोर्ट का नोटिस
आयुर्वेद कॉलेजों की फ़ीस को तीन गुना बढ़ाने और कोर्ट के आदेशों के बावजूद कम न करने के मामले में उत्तराखण्ड हाईकोर्ट ने आयुर्वेद विश्वविद्यालय समेत 13 आयुर्वेद मेडिकल कॉलेजों के साथ सरकार व सचिव मेडिकल शिक्षा को नोटिस जारी किया है.
Virendra Bisht | News18 Uttarakhand
Updated: August 6, 2019, 3:59 PM IST
आयुर्वेद कॉलेजों की फ़ीस को तीन गुना बढ़ाने और कोर्ट के आदेशों के बावजूद कम न करने के मामले में उत्तराखण्ड हाईकोर्ट ने आयुर्वेद विश्वविद्यालय समेत 13 आयुर्वेद मेडिकल कॉलेजों के साथ सरकार व सचिव मेडिकल शिक्षा को नोटिस जारी किया है. हाई कोर्ट की खंडपीठ ने सभी पक्षकारों को दो हफ़्ते में जवाब दाखिल करने के आदेश दिए हैं.

कोर्ट का आदेश भी नहीं माना

बता दें कि सरकार ने आयुर्वेद कॉलेजों ने 80,000 की फ़ीस को बढ़ाकर 2,15,000 कर दिया था. सरकार के इस फीस बढ़ाने वाले जीओ को पिछले साल हाईकोर्ट ने निरस्त कर दिया था लेकिन हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी मेडिकल कॉलेजों ने फ़ीस कम नहीं की.

छात्रों ने इसका विरोध किया तो कॉलेज मनमानी पर उतर आए और छात्रों को क्लास में प्रवेश से रोक दिया. कॉलेजों की मनमानी पर देहरादून के मोहित उनियाल ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की है. याचिका में कहा गया है कि कॉलेजों में पुरानी फीस लागू की जाए और कॉलेज में छात्रों को प्रवेश से न रोका जाए.

आज पूरे मामले की सुनवाई के बाद हाईकोर्ट के चीफ़ जस्टिस रमेश रंगनाथन और जस्टिस आलोक कुमार की बेंच ने सभी पक्षकारों को नोटिस जारी कर दो हफ़्ते में जवाब दाखिल करने के आदेश दिए.

यह भी पढ़ें:

आयुष मंत्री का ‘पुत्रमोह’ आ गया यहां प्रधानमंत्री के सपने पूरे होने की राह में!
Loading...

फीस बढ़ोतरी के खिलाफ धरने पर बैठे स्टूडेंट्स से तीन दिन बाद मिले VC

 
First published: August 6, 2019, 3:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...