Home /News /uttarakhand /

कुमाऊं में बर्फबारी के बाद ठंड का कहर, 10 डिग्री से नीचे लुढ़का पारा

कुमाऊं में बर्फबारी के बाद ठंड का कहर, 10 डिग्री से नीचे लुढ़का पारा

ठंड से बचने के लिए लोग ले रहे अलाव का सहारा

ठंड से बचने के लिए लोग ले रहे अलाव का सहारा

हल्द्वानी (Haldwani) शहर के कुमाऊं क्षेत्र में बर्फबारी (Snowfall) के बाद बर्फीली हवाओं (Icy Winds) ने लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है.

हल्द्वानी. उत्तराखंड (Uttarakhand) के नैनीताल (Nainital) जिले में हल्द्वानी (Haldwani) शहर के कुमाऊं क्षेत्र में बर्फबारी (Snowfall) के बाद बर्फीली हवाओं (Icy Winds) ने लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है. हिमालय से आ रही ठंडी हवाओं से तराई-भाभर का तापमान 10 डिग्री से नीचे चला गया है. लोग किसी तरह इस कटीली ठंड से बचने की जुगत कर रहे हैं.

बर्फीली हवाओं ने किया लोगों का जीना मुश्किल 

वहीं आसमान में छाए घने बादलों और कोहरे की चादर ने कुमाऊं के तराई-भाभर इलाके में लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है. यहां ठंड पिछले दो दिनों से लोगों पर अपना कहर बरपा रही है. परेशानी का पहाड़ गरीब, बेसहारा और राहगीरों के सामने खड़ा हो गया है, जो किसी तरह गर्म कपड़ों और अलाव के सहारे ठंड को मात देने की कोशिश कर रहे हैं.

ठंड में अलाव बना सबसे बड़ा सहारा

इस कड़ाके की ठंड में लोगों के लिए अलाव सबसे बड़ा सहारा है. अलाव और गर्म कपड़ों की बदौलत ही वे इस ठंड में किसी तरह अपनी रोजमर्रा के काम कर पा रहे हैं. हालांकि प्रशासनिक अधिकारी बेघर, गरीब और राहगीरों को ठंड में गर्मी देने के लिए इतंजाम करने के दावे कर रहे हैं.

ठंड का कहर अभी और बढ़ेगा

बहरहाल, हल्द्वानी और उसके आस-पास पिछले दो दिनों में तापमान 10 डिग्री से भी नीचे पहुंच गया है. इस कारण लोगों ने ठंड से बचने के लिए गर्म कपड़े पहनना शुरू कर दिया है. मौसम विभाग के मुताबिक ठंड का कहर अभी और बढ़ेगा, जिससे लोगों की परेशानी बढ़ना तय है.

ये भी पढ़ें:- लोकसभा अध्यक्ष ने उद्घाटन कर किया पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन का शुभारंभ

ये भी पढ़ें:- हरिद्वार में CAA का समर्थन भी, विरोध भी... कांग्रेस का धरना, ABVP का मार्च

Tags: Haldwani news, Heavy snowfall, Snowfall in Uttarakhand, Uttarakhand news, Winter

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर