अपना शहर चुनें

States

हरीश रावत ने पार्टी हाईकमान से की '2022 के लिए कांग्रेस का सेनापति घोषित करने की मांग'

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने 2022 विधानसभा चुनाव को लेकर अपना बड़ा बयान दिया है.
कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने 2022 विधानसभा चुनाव को लेकर अपना बड़ा बयान दिया है.

हरीश रावत का कहना है इससे पार्टी बेहतर फाइटिंग पोजिशन पर आ सकेगी.

  • Share this:
हल्द्वानी. कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने 2022 विधानसभा चुनाव को लेकर अपना बड़ा बयान दिया है. पार्टी की रणनीति को लेकर हरीश रावत ने सोशल मीडिया पर ऐसी पोस्ट लिखी है जिससे सर्द मौसम में उत्तराखंड की सियासत गरमाना तय है. पूर्व मुख्यमंत्री ने कांग्रेस आलाकमान से उत्तराखंड में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर बड़ी मांग की है. हरीश रावत ने अपनी सोशल पोस्ट में 2022 के लिए किसी भी नेता को सेनापति घोषित करने की मांग की है. उनका कहना है इससे पार्टी बेहतर फाइटिंग पोजिशन पर आ सकेगी.

हरीश रावत ने क्या लिखा

पूर्व सीएम हरीश रावत भले ही कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हैं लेकिन वह राज्य की सियासत में खासे सक्रिय रहते हैं. कई दफा उनके राजनीतिक कार्यक्रमों को मिल रहा जन समर्थन पार्टी के प्रदेश नेतृत्व के लोगों को भी असहज कर देता है. ऐसे में हरीश रावत के सोमवार को दिए गए सियासी बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं.



हरीश रावत ने अपनी पोस्ट में लिखा, ''#Thank_You # देवेंद्र_यादव जी, आपके बयान ने मेरा मान बढ़ाया. हरीश रावत ही क्यों! प्रत्येक नेता व कार्यकर्ता के बिना 2022 की लड़ाई अधूरी है, पार्टी को बिना लाग-लपेट के 2022 के चुनावी रण का सेनापति घोषित कर देना चाहिए. पार्टी को यह भी स्पष्ट कर देना चाहिये कि कांग्रेस की विजयी की स्थिति में वही व्यक्ति प्रदेश का #मुख्यमंत्री भी होगा. उत्तराखंड, वैचारिक रूप से परिपक्व राज्य है. लोग जानते हैं, राज्य के विकास में मुख्यमंत्री की क्षमता व नीतियों का बहुत बड़ा योगदान रहता है. हम चुनाव में यदि अस्पष्ट स्थिति के साथ जाएंगे तो यह पार्टी के हित में नहीं होगा."


उन्होंने इसी पोस्ट में आगे लिखा है कि इससे गुटबाज़ी भी थमेगी, "इस समय अनावश्यक कयासबाज़ियों तथा मेरा-तेरा के चक्कर में कार्यकर्ताओं का मनोबल टूट रहा है एवं कार्यकर्ताओं के स्तर पर भी गुटबाजी पहुंच रही है. मुझको लेकर पार्टी को कोई असमंजस नहीं होना चाहिये, पार्टी जिसे भी सेनापति घोषित कर देगी मैं उसके पीछे खड़ा रहूँगा और यथा आवश्यकता सहयोग करूँगा. #राज्य में कांग्रेस को विशालतम अनुभवि व अति ऊर्जावान लोगों की सेवाएं उपलब्ध हैं, उनमें से एक नाम की घोषणा करिये व हमें आगे ले चलिए.''

कुंजवाल ने किया समर्थन 

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव का चार दिनों का उत्तराखंड का दौरा 10 जनवरी को ही पूरा हुआ है. प्रभारी के लौटते ही दूसरे दिन हरीश रावत के इस सियासी बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं. जानकार इसे हरीश रावत की पॉलिटिकल स्टाइल करार दे रहे हैं. वहीं हरीश रावत के बेहद करीबी पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने हरीश रावत के बयान का समर्थन किया है.

कुंजवाल ने कहा कि पार्टी जितने जल्दी हो सके चेहरा घोषित करे. कार्यकर्ताओं में कोई असमंजस की स्थिति न रहे. हालांकि हरीश रावत के इस पर पार्टी के पीसीसी चीफ प्रीतम सिंह और नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश के खेमे की क्या राय रहती है ये देखने वाली बात है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज