लाइव टीवी

रामनगर: 10 साल की बच्ची की हत्या का मामला, हाईकोर्ट ने बरकरार रखा उम्र कैद का फैसला
Nainital News in Hindi

Virendra Bisht | News18 Uttarakhand
Updated: February 26, 2020, 5:11 PM IST
रामनगर: 10 साल की बच्ची की हत्या का मामला, हाईकोर्ट ने बरकरार रखा उम्र कैद का फैसला
हाईकोर्ट ने सैशन कोर्ट की सजा को रखा बरकरार

इस घटना के बाद बच्ची के पिता ने रामनगर कोतवाली (Ramnagar Kotwali) में आरोपी पवन सैनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया. पुलिस ने पवन को पकड़कर जेल भेज दिया.

  • Share this:
नैनीताल. उत्तराखंड के रामनगर में हुए बच्ची की हत्या के मामले में हाईकोर्ट ने भी सैशन कोर्ट की सजा को बरकरार रखा है. आरोपी पीड़िता का पोड़ोसी था. आरोपी पवन सैनी को बच्ची मामा कहती थी. 12 अप्रैल 2014 की शाम जब बच्ची के पिता श्रीराम पत्नी के साथ घर लौटे तो बेटी घर पर नहीं थी. काफी खोजबीन के बाद भी उसकी कोई जानकारी नहीं मिली. एक दिन बाद पड़ोस में रहने वाली रुखसाना ने बताया कि कल दिन में पवन बच्ची के साथ था, जिसके बाद सभी मजदूरों ने पवन को पकड़कर पीटा तो उसने बताया कि वो बच्ची को लेकर जंगल गया था, जहां उसने गला दबाकर उसकी हत्या कर दी.

कोर्ट ने दोषी माना, आजीवन कारावास की सजा सुनाई
इस घटना के बाद बच्ची के पिता ने रामनगर कोतवाली (Ramnagar Kotwali) में आरोपी पवन सैनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया. पुलिस ने पवन को पकड़कर जेल भेज दिया.इस पूरे मामले पर जिला अदालत में लम्बी सुनवाई हुई तो 6 अप्रैल 2014 को जिला जज ने आरोपी को दोषी मानते हुए उसे आजीवन कारावास की सजा सुना दी. इस फैसले को दोषी ने हाईकोर्ट में चुनौती दी.

हाईकोर्ट ने सजा को बरकरार रखा



उसका आरोप था कि उसे फंसाया जा रहा है. सुनवाई के दौरान सरकारी अधिवक्ता जेएस ब्रिर्क ने दलील दी की इस मामले में जो भी वैज्ञानिक व अन्य प्रमाण मिले हैं, उनसे पता चलता है कि पवन ने ही हत्या की है. कोर्ट ने भी साक्ष्यों को माना व दोषी की सजा को बरकरार रखा है.

पीड़िता का पड़ोसी था आरोपी
श्रीराम का परिवार और पवन पड़ोसी थे. दोनों कोसी नदी में खनन करते थे, इस दौरान बच्ची पवन को मामा कहने लगी. लेकिन एक दिन पवन की नीयम बिगड़ी और उसने जंगल ले जाकर बच्ची की हत्या कर दी.

ये भी पढ़ें -
ऋषिकेश के त्रिवेणी संगम पर देवस्थानम एक्ट के खिलाफ पूजा, हवन
इस रफ़्तार से तो लगता नहीं कि बन पाएगा 2020 तक देहरादून-हरिद्वार हाईवे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नैनीताल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 26, 2020, 5:09 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर