Home /News /uttarakhand /

नैनीताल में है भारत का पहला मॉस गार्डन, 50 से ज्यादा प्रजातियां संरक्षित, जानिए इसकी खासियत

नैनीताल में है भारत का पहला मॉस गार्डन, 50 से ज्यादा प्रजातियां संरक्षित, जानिए इसकी खासियत

मॉस

मॉस गार्डन की स्थापना 2019 में हुई थी.

मॉस गार्डन (Moss Garden Nainital) में 50 से भी ज्यादा प्रजातियों के मॉस देखने को मिल जाएंगे.

    नैनीताल से लगभग 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित लिंगाधार में भारत का पहला मॉस गार्डन (Moss Gardan Nainital) स्थित है. इस गार्डन की स्थापना दिसंबर 2019 में हुई थी. इसको स्थापित करने का मुख्य उद्देश्य मॉस और अन्य ब्रायोफाइट्स की विभिन्न प्रजातियों के संरक्षण और मॉस के पारिस्थितिक महत्व के बारे में आम लोगों को जागरूक करना है.

    इस गार्डन में 50 से भी ज्यादा प्रजातियों के मॉस देखने को मिल जाएंगे. मॉस निचले पादप माने जाते हैं, जो सबसे पुराने पादपों में भी आते हैं. यह पादप इकोलॉजी में बेसिक फंक्शन्स करते हैं. बड़े पत्थरों को तोड़कर मिट्टी में बदलने का काम भी मॉस करते हैं. इसके अलावा झरने और स्रोतों के पानी को साफ करने का काम भी मॉस का ही है.

    यह मॉस अपने पत्तों पर टूफा (CaCO3) का निर्माण करती हैं, जिससे पानी से कैल्शियम अलग हो जाता है और साफ पानी बहने लगता है. यह बाकी उच्च वर्ग की प्रजाति के प्लांट के उगने लायक कंडीशंस भी बनाते हैं.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर