Home /News /uttarakhand /

जस्टिस चौहान होंगे विदा, जस्टिस संजय कुमार होंगे उत्तराखंड हाईकोर्ट के कार्यवाहक चीफ जस्टिस

जस्टिस चौहान होंगे विदा, जस्टिस संजय कुमार होंगे उत्तराखंड हाईकोर्ट के कार्यवाहक चीफ जस्टिस

जस्टिस संजय कुमार मिश्रा और जस्टिस आरएस चौहान.

जस्टिस संजय कुमार मिश्रा और जस्टिस आरएस चौहान.

New Chief Justice of Uttarakhand High Court : सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court of India) की संस्तुति पर राष्ट्रपति (President of India) द्वारा हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश की नियुक्ति की जाती है. जस्टिस चौहान (Justice RS Chauhan) अपने एक साल से भी कम के समय में उत्तराखंड में यादगार कार्यकाल बिताकर गुरुवार को विदा हो रहे हैं. उनकी जगह लेने वाले और इससे पहले उड़ीसा हाई कोर्ट (Orissa High Court) में हज़ारों जजमेंट देने वाले जस्टिस संजय कुमार (Justice Sanjay Kumar Mishra) के बारे में विस्तार से जानिए.

अधिक पढ़ें ...

नैनीताल. उत्तराखंड के चीफ जस्टिस आरएस चौहान गुरुवार को सेवानिवृत्त हो रहे हैं. उनके बाद वरिष्ठ न्यायधीश संजय कुमार मिश्रा को उत्तराखंड हाईकोर्ट का कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया गया है. सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश की संस्तुति पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ये नियुक्ति की है. जस्टिस संजय कुमार को नियुक्ति से संबंधित केंद्रीय विधि एवं न्याय मंत्रालय के अपर सचिव राजेन्द्र कश्यप के हस्ताक्षर से जारी अधिसूचना बुधवार को हाईकोर्ट को प्राप्त हो चुकी है. 24 दिसंबर 1959 को जन्मे जस्टिस चौहान ने उत्तराखंड हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश का कार्यभार 31 दिसंबर 2020 को संभाला था.

उत्तराखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस आरएस चौहान के सम्मान में नैनीताल हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने एक विदाई समारोह आयोजित किया. नैनीताल क्लब में कार्यक्रम के दौरान चीफ जस्टिस ने कहा कि देवभूमि में काम करने का मौका मिलना हमेशा उनकी यादों में रहेगा. उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट की बार ने हमेशा उनका सहयोग किया. सीनियर वकीलों से कहा कि वो अपने जूनियर वकीलों को सहयोग करें ताकि उनका भविष्य बेहतर हो. इस मौके पर बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अ‌वतार सिंह रावत ने कहा कि दुर्भाग्य से ​जस्टिस चौहान का कार्यकाल उत्तराखंड में बहुत कम रहा.

जस्टिस संजय मिश्रा को कितना जानते हैं आप?
जस्टिस संजय मिश्रा उड़ीसा हाईकोर्ट से 11 अक्टूबर 2021 को ही उत्तराखंड हाईकोर्ट ट्रांसफर हुए थे. उन्होंने 1987 में दिल्ली विश्वविद्यालय से विधि की डिग्री हासिल की. वह 1999 में जयपुर ज़िला न्यायालय में अपर ज़िला जज और 2009 में उड़ीसा हाईकोर्ट में जज बने थे. इससे पहले, बालंगीर से ताल्लुक रखने वाले जस्टिस मिश्रा ने 1988 में वकालत शुरू की थी और 1999 में ज़िला जज परीक्षा में अव्वल स्थान हासिल किया था.

Uttarakhand high court, nainital high court, chief justice, नैनीताल हाई कोर्ट, उत्तराखंड हाई कोर्ट, चीफ जस्टिस, aaj ki taza khabar, UK news, UK news live today, UK news india, UK news today hindi, UK news english, Uttarakhand news, Uttarakhand Latest news, उत्तराखंड ताजा समाचार, nainital news, नैनीताल समाचार

बार एसोसिएशन के विदाई कार्यक्रम में जस्टिस चौहान.

उड़ीसा हाईकोर्ट से अक्टूबर में विदाई समारोह के समय खबरें थीं कि जस्टिस मिश्रा ने एकलपीठ के तौर पर 39,217 और डिविज़न बेंच के जज के तौर पर 10,450 जजमेंट दिए थे. जस्टिस मिश्रा ज़िला एवं सत्र न्यायाधीश सुंदरगढ़, विशेष न्यायाधीश सीबीआई और रजिस्ट्रार जनरल उड़ीसा हाई कोर्ट भी रह चुके हैं.

Tags: Chief Justice, Uttarakhand high court, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर