33000 केवी की लाइन से चिपके दो मज़दूर, लाइन के नीचे हो रहा था अवैध निर्माण

गंभीर हालत में उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है. हाइटेंशन लाइन के नीचे अवैध निर्माण कार्य चल रहा था.

News18 Uttarakhand
Updated: July 18, 2019, 7:53 PM IST
33000 केवी की लाइन से चिपके दो मज़दूर, लाइन के नीचे हो रहा था अवैध निर्माण
हल्द्वानी में हाई टेंशन लाइन से झुलसे एक प्रवासी मज़दूर बुरी तरह झुलस गया है और उसकी हालत गंभीर है.
News18 Uttarakhand
Updated: July 18, 2019, 7:53 PM IST
हल्द्वानी में करंट लगने से दो मजदूर बुरी तरह झुलस गए हैं. ये दोनों मज़दूर हाईटेंशन लाइन के नीचे काम कर रहे थे कि 33000 केवी की लाइन ने इन्हें खींच लिया और ये उससे चिपक गए. गंभीर हालात में उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है. हाइटेंशन लाइन के नीचे अवैध निर्माण कार्य चल रहा था. हल्द्वानी के दमुवाढूंगा इलाके की यह घटना है.

बिहार के मोतिहारी ज़िले के रहने वाले गुड्डू और अफ़रोज़ मिस्त्री का काम करते हैं. इनमें से एक बुरी तरह झुलस गया है और उसकी हालत गंभीर है. दूसरे मज़दूर के हाथ और पैर झुलसे हैं और वह खतरे से बाहर है.

ये लोग हल्द्वानी में एक मकान का कंस्ट्रक्शन कर रहे थे. पहले से दो मंज़िल बने हुए इस मकान पर मकान मालिक तीसरा माला बनवा रहा था. जहां गुड्डू और अफ़रोज़ काम कर रहे थे वह हाईटेंशन तार से सिर्फ़ 5 मीटर ही दूर था. इसीलिए हाईटेंशन तार ने उन्हें खींच लिया.

त्रासदी यह भी है कि बुरी तरह घायल होने के बावजूद इन लोगों को यूपीसीएल से मुआवज़ा तक नहीं मिलेगा क्योंकि वह अवैध निर्माण कार्य में संलग्न थे. हल्द्वानी में यूपीसीएल के अधिकारियों का कहना है कि मकान मालिक के ख़िलाफ़ एफ़आईआर करवाएंगे.

Facebook पर उत्‍तराखंड के अपडेट पाने के लिए कृपया हमारा पेज Uttarakhand लाइक करें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नैनीताल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 18, 2019, 6:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...