Home /News /uttarakhand /

नैनीताल: स्वाद के साथ सेहत का भी ख्याल रखता है 'सना हुआ नींबू', ये है बनाने का तरीका

नैनीताल: स्वाद के साथ सेहत का भी ख्याल रखता है 'सना हुआ नींबू', ये है बनाने का तरीका

पहाड़

पहाड़ में सर्दियों में सना हुआ नींबू खाने का चलन है.

सने हुए नींबू की सबसे मुख्य सामग्री भांग वाला नमक है, जिसे सिलबट्टे में पीसा जाता है. 

    पहाड़ में नींबू बड़े ही चाव से खाया जाता है. जाड़ों में पहाड़ के लोग इसे दही में सानकर खाते हैं. नींबू को इस तरह से सानकर खाना दशकों से चलता आ रहा है. सरोवर नगरी नैनीताल में भी ठंड में गुनगुनी धूप में बैठकर नींबू सानकर खाने की परंपरा दशकों से चली आ रही है. नींबू प्रजाति के इन फलों में सिट्रिक एसिड होता है, जो अपने आप में सेहत के लिए काफी लाभदायक होता है. इसके साथ ही यह शरीर को जाड़ों के समय में गर्म रखने का भी काम करता है.

    नींबू को दही में सानकर खाया जाता है. सने हुए नींबू की सबसे मुख्य सामग्री भांग वाला नमक है, जिसे सिलबट्टे में पीसा जाता है. इसके साथ ही इसमें माल्टा, संतरा, गाजर, मूली और धनिया मिलाया जाता है. इसमें सेब, केला, अनार जैसे फलों को भी मिलाया जा सकता है. इसमें मीठा स्वाद लाने के लिए गुड़ का इस्तेमाल किया जाता है. सर्दी के मौसम में धूप में बैठ इस स्वादिष्ट सने हुए नींबू को खाने का अलग ही मजा है.

    Tags: नैनीताल

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर