छात्रवृत्ति घोटाले में मयंक नौटियाल की गिरफ़्तारी पर रोक, सरकार से एक हफ़्ते में जवाब मांगा
Nainital News in Hindi

छात्रवृत्ति घोटाले में मयंक नौटियाल की गिरफ़्तारी पर रोक, सरकार से एक हफ़्ते में जवाब मांगा
उत्तराखंड हाईकोर्ट, नैनीताल

मयंक नौटियाल ने उत्तराखंड हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर एसआईटी की 11 जनवरी की दर्ज एफआईआर निरस्त करने और गिरफ्तारी पर रोक लगाने को लेकर याचिका दायर की थी.

  • Share this:
समाज कल्याण विभाग में किए गए करोड़ों रुपये के छात्रवृत्ति घोटाले के एक आरोपी मयंक नौटियाल की गिरफ्तारी पर उत्तराखंड हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है. इसके साथ ही हाईकोर्ट ने शिकायतकर्ता और सरकार को एक हफ्ते के भीतर जवाब दाखिल करने का आदेश दिया है.

आपको बता दें कि राज्य में छात्रवृत्ति में लाखों के घोटाले में एसआईटी ने मयंक नौटियाल के खिलाफ डोईवाला थाने में एफआईआर दर्ज की है. मयंक पर आरोप है कि उसने जब 2013-14 में प्रवेश लिया तो गलत प्रमाण पत्र लगाकर छात्रवृत्ति के लिए आवेदन किया था.

इन प्रमाण पत्रों में मयंक ने अपने पिता की आय 3500, 5000 और 6500 रुपए दर्शाया जबकि उसके पिता ने उसी वित्त वर्ष में चार लाख से ज़्यादा का आयकर जमा किया था. उसके घर में कई गाड़ियां भी खरीदी गई थीं.



मयंक ने उत्तराखंड हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर एसआईटी की 11 जनवरी की दर्ज एफआईआर निरस्त करने और गिरफ्तारी पर रोक लगाने को लेकर याचिका दायर की थी. इस पर हाईकोर्ट ने एक हफ़्ते के लिए गिरफ्तारी पर रोक लगाने और प्रदेश सरकार को जवाब दाखिल करने का आदेश दिया.
100 करोड़ के छात्रवृत्ति घोटाले में SIT की प्रारंभिक जांच के बाद केस दर्ज

हाईकोर्ट ने पूछा क्यों ने सीबीआई से करवाई जाए छात्रवृत्ति घोटाले की जांच
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज