नैनीताल जल्द बनेगा खूबसूरत टूरिस्ट डेस्टिनेशन, चार चांद लगाएंगे एप्पल और एस्ट्रो विलेज

नैनीताल में एप्पल और एस्ट्रो विलेज बनाया जाएगा. (File)

नैनीताल में एप्पल और एस्ट्रो विलेज बनाया जाएगा. (File)

Nainital News: नैनीताल के नए डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल ने अधिकारियों को पर्यटकों के लिए एप्पल विजेल (Apple Village) बनाने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ ही एस्ट्रो टूरिज्म के लिे ताकुला और देवस्थल को माॅडल विलेज बनाया जाएगा.

  • Share this:
नैनीताल. अपने पर्यटन के लिए दुनियाभर में मशहूर नैनीताल  (Nainital) को कुछ महीनों बाद नई पहचान मिलेगी जिसका खाका खिंचा चुका है. नैनीताल के नए नवेले डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल ने अधिकारियों को जिले में फल पट्टी से मशहूर इलाकों में एप्पल विजेल (Apple Village) बनाने के निर्देश दिए हैं ताकि वहां पर्यटक केवल सेबों का आनंद लेने पहुंच सकें. साथ ही आकाश में हो रही हलचलों के देखने के शौकीनों के लिए जिले में दो गांवों को एस्ट्रो टूरिज्म के लिए तैयार करने की योजना है. अपनी पहली ही बैठक में डीएम गर्ब्याल ने उद्यान विभाग के अधिकारियों  को निर्देश दिया कि जिले को एप्पल विलेज बनाने पर फोकस किया जाए. इसके लिए सेबों के नए बाग विकसित करने से लेकर आधुनिक तकनीक से नई नर्सरी तक तैयार की जाएगी ताकि फ्रूट बेल्ट रामगढ़, नथुवाखान, हली, हरतपा, मुक्तेश्वर, धानाचूली और धारी में सेब के नए बाग किसानों की मदद से विकसित किए जा सकें. डीएम ने सेब की ऐसी वैरायटी की लिस्ट बनाने को भी कहा है जो इन इलाकों और उत्पादन के लिहाज से मुफीद हों.

इस तरह नैनीताल में बनेगा एप्पल विलेज

जिलाधिकारी  गर्ब्याल के मुताबिक सेब के बगीचे विकसित करने पर उनका विशेष ध्यान है. इसके लिए उन्होंने मुख्य उद्यान अधिकारी को सेब की नर्सरी तैयार करने के साथ ही सेब उत्पादन करने वाले कृषकों को चिन्हित करने के निर्देश दिए. डीएम ने बताया कि सेब उत्पादन में रूचि रखने वाले किसानों को ट्रेनिंग दी जाएगी. इसके लिए उन्होंने उद्यान विभाग को बजट भी दे दिया है.



Youtube Video








जिले में बनेंगे एस्ट्रो विलेज


डीएम नैनीताल ने जिला पर्यटन विकास अधिकारी को एस्ट्रो टूरिज्म के लिे ताकुला और देवस्थल को माॅडल विलेज बनाने के निर्देश दिए. साथ ही उन्होंने दूरबीन (टैलीस्कोप)खरीद करने व दोनों गाॅवों में भवन बनाने के लिए धनराशि भी स्वीकृत की. उन्होंने कहा कि इन ग्रामों में पर्वतीय शैली के भवन का प्रस्ताव प्रस्तुत करने के साथ ही ग्राम के युवाओं से वार्ता कर उन्हें एस्ट्रो टूरिज्म के लिए तैयार करें ताकि उन्हें प्रशिक्षण देकर दक्ष किया जा सके. उन्होंने कहा कि जनपद में युवाओं को वुडस्टाॅक संस्थान से पैराग्लाइडिंग ट्रेनिंग दिलाई जाएगी ताकि युवा स्वरोजगार अपना सके.





अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज