लाइव टीवी

लॉकडाउन में प्रवासी मज़दूरों ही नहीं ग्रामीणों को भी है मदद की ज़रूरत, ऑफ़लाइन कार्ड पर नहीं मिल रहा राशन
Nainital News in Hindi

Virendra Bisht | News18 Uttarakhand
Updated: April 6, 2020, 11:58 AM IST
लॉकडाउन में प्रवासी मज़दूरों ही नहीं ग्रामीणों को भी है मदद की ज़रूरत, ऑफ़लाइन कार्ड पर नहीं मिल रहा राशन
लॉकडाउन के बाद शहरों में समाज सेवी संगठन लोगों की जमकर मदद कर रहे हैं मगर गांवों तक अभी मदद नहीं पहुंच सकी है.

ग्रामीण पुष्पा देवी के परिवार में दो बेटे हैं मगर लॉकडाउन के बाद से ही वह खाली बैठे हैं.

  • Share this:
नैनीताल. कोरोना संक्रमण के बाद हुए लॉकडाउन से ग्रामीण इलाकों में दिक्कतें बढ़ने लगी हैं. लॉकडाउन के बाद शहरों में समाज सेवी संगठन लोगों की जमकर मदद कर रहे हैं मगर गांवों तक अभी मदद नहीं पहुंच सकी है. काम बंद हो गया और खाने-पीने की परेशानियां लोगों के लिए अब मुसीबत बन गई हैं. नैनीताल के एक गांव में रहने वाली पुष्पा देवी के किचन की रिपोर्ट आज हम आपके साथ साझा कर रहे हैं.

दो बेटे, दोनों बेरोज़गार

लॉकडाउन के बाद पुष्पा देवी लगातार मदद की आस लगाए बैठी हैं. होने को परिवार में दो बेटे हैं मगर लॉकडाउन के बाद से ही वह खाली बैठे हैं, ग्राम प्रधान ने इस घर को आटा चावल तो दिया था मगर सब्ज़ी, राशन के साथ वह भी खत्म होने लगे हैं और अब यह चिंता सताने लगी है कि 12 लोगों के इस परिवार का पेट कैसे भरेगा.



पुष्पा देवी बताती हैं कि लॉकडाउन के बाद से उन्हें भी दिक्कत आ रही है लेकिन किसी तरह परिवार चल रहा है. वह सरकारी अधिकारियों से कहती हैं कि उनको मदद दी जाए. पुष्पा देवी के साथ ही पंगूट, बगड़ मंगोली, बजून समेत कई गांवों में ऐसे ही हालात बने हैं. कई बुजुर्ग ऐसे हैं जो लॉकडाउन के चलते बाजार नहीं जा सकते और घर तक मदद नहीं पहुंच सकी है.



नहीं मिल रहा राशन

दरअसर संकट के इस दौर में इन लोगों के लिये सरकारी राशन का सहारा था मगर वह भी नहीं मिल पा रहा. बाज़ार में महंगा राशन न खरीद पाने वाले लोग जब राशन लेने पहुंचते हैं तो राशनकार्ड ऑनलाइन न होने के वजह से उन्हें लौटाया जा रहा है.

बजून गांव के राजू बिष्ट कहते हैं कि गांव में 1500 के करीब परिवार हैं जिनमें से 200 के कार्ड ऑनलाइन नहीं हैं. सरकार को चाहिए कि ऐसे वक्त लोगों को मदद इन सरकारी दुकानों से मिले.

गांमीणों को भी मदद की ज़रूरत

लॉकडाउन के बाद से ही शहरों में हर कोई मदद पहुंचा रहा है. नैनीताल शहर में गरीब मज़दूरों को लगातार मदद दी जा रही है तो कई मामले ऐसे भी सामने आए हैं कि अलग-अलग ग्रुप एक ही परिवार को कई बार मदद दे चुके हैं.

हालांककि पुलिस नज़दीकी गांवों में लगातार लोगों को मदद पहुंचा रही है लेकिन बहुत से लोग अब भी छूट जा रहे हैं. ग्राम प्रधान मुन्नी देवी कहती हैं कि वह लगातार स्वयं सेवी संस्थाओं से ऐसे लोगों की मदद करने की अपील कर रही है ताकि इन परिवारों के घरों का चूल्हा भी जल सके.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नैनीताल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 6, 2020, 11:58 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading