Home /News /uttarakhand /

इस बार आफ सीजन में भी सैलानियों से गुलजार रही सरोवर नगरी

इस बार आफ सीजन में भी सैलानियों से गुलजार रही सरोवर नगरी

ठंड पड़ने के साथ पहाड़ों में पर्यटकों की संख्या गिरने लगती है. जिसके बाद हिल स्टेशन में विरानी छाने के साथ आफ सीजन की मार झेलनी पड़ती है.

ठंड पड़ने के साथ पहाड़ों में पर्यटकों की संख्या गिरने लगती है. जिसके बाद हिल स्टेशन में विरानी छाने के साथ आफ सीजन की मार झेलनी पड़ती है.

ठंड पड़ने के साथ पहाड़ों में पर्यटकों की संख्या गिरने लगती है. जिसके बाद हिल स्टेशन में विरानी छाने के साथ आफ सीजन की मार झेलनी पड़ती है.

ठंड पड़ने के साथ पहाड़ों में पर्यटकों की संख्या गिरने लगती है. जिसके बाद हिल स्टेशन में विरानी छाने के साथ आफ सीजन की मार झेलनी पड़ती है. लेकिन इस बार बारिश और बर्फबारी नहीं होने के चलते आफ सीजन में पर्यटकों की रौनक देखने को मिली. जिसके चलते पर्यटन कारोबार आफ सीजन में दौड रहा है. हांलाकि बर्फबारी नहीं होने से इन कारोबारीयों में निराशा भी जरुर है.

इस बार बारिश और बर्फबारी में कमी जरुर आई है. मगर इस बार हिल स्टेशन पर्यटकों से गुलजार रहे. पर्यटन स्थल में पर्यटकों की रौनक देखने को मिली है. कोई नैनी सरोवर में बोटिंग का लूफ्त उठा रहा है तो कोई मालरोड भी सैलानीयों से गुलजार हो रही है.

इतना ही नहीं नैनीताल के अन्य पर्यटन स्थलों में भी कमोवेश यही स्थिति बनी है. ठंड में आई कमी से हिल स्टेशन में पर्यटकों की संख्या बढ़ने से होटल कारोबार भी उम्मीद से ज्यादा देखने को मिला. दिसंबर, जनवरी और फरवरी में बढ़े सैलानीयों से होटल कारोबारी खुस है.

गौरतलब है कि दिसंबर के बाद हिल स्टेशनों में आफ सीजन माना जाता है. इस दौरान बर्फबारी और बारिश से पहाड़ों में पड़ने वाली कड़ाके की ठंड के चलते पर्यटकों की संख्या में कमी आ जाती है. आफ सीजन को देख नैनीताल के कई होटल भी बंद हो जाते है, जो मार्च के बाद नए पर्यटन सीजन के दौरन ये होटल सैलानीयों की आवोभगत के लिये तैयार रहते है. मगर इस बार मौसम में आए बदलाव से पर्यटन कारोबार आफ सीजन में भी खुब चल रहा है.

होटल कारोबारी दिग्विजय बिष्ट का कहना है कि इस साल बारिश और बर्फबारी से यहां का मौसम ठंडा नहीं हुआ जिसके चलते नैनीताल में पर्यटकों की आवाजाही लगातार बनी रही.

साथ ही इस साल पिछले सालों के मुकाबले आफ सिजन में भी कारोबार काफी अच्छा रहा. लेकिन डर इस बात का है कि जो बारिश इस दौरान नहीं हुई वो मौसम परिवर्तन के चलते मई जून में ना हो वरना पर्यटन पीक सिजन में काम ठप हो जायेगा.

वहीं नाव चालक गुलशन कुमार का कहना है कि आफ सिजन भी इस बार ठीक कटा है लेकिन बर्फबारी होती तो पर्यटकों की संख्या में जरुर इजाफा होता.

Tags: Tourism, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर