बेटी के बयानों में उलझी हल्द्वानी में महिला के मर्डर की मिस्ट्री

हल्द्वानी के गोरापड़ाव में हुई महिला की हत्या एक सप्ताह बाद भी पुलिस के लिए पहेली बनी हुई है. पुलिस की अठारह टीमें मामले को खंगालने में जुटी हुई है. मामले में अब तक करीब सौ से ज्यादा लोगों से पूछताछ भी हो चुकी है, लेकिन घटना में घायल मृतका की बेटी के बदलते बयानों ने मां के मर्डर को पुलिस के लिए मिस्ट्री बना दिया है.

Shailendra | News18 Uttarakhand
Updated: September 4, 2018, 11:10 AM IST
बेटी के बयानों में उलझी हल्द्वानी में महिला के मर्डर की मिस्ट्री
महिला की हत्या के मामले में पूछताछ करते पुलिस अधिकारी
Shailendra | News18 Uttarakhand
Updated: September 4, 2018, 11:10 AM IST
नैनीताल के हल्द्वानी में 27 अगस्त को हुई महिला की हत्या के मामले में एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी पुलिस खाली हाथ है. हालांकि पुलिस ने दावा किया है कि वो मामले के खुलासे के बेहद करीब है, लेकिन मृतका की घायल बेटी के बदलते बयान पुलिस के लिए चुनौती बन गयी है.

हल्द्वानी के गोरापड़ाव में हुई महिला की हत्या एक सप्ताह बाद भी पुलिस के लिए पहेली बनी हुई है. पुलिस की अठारह टीमें मामले को खंगालने में जुटी हुई है. मामले में अब तक करीब सौ से ज्यादा लोगों से पूछताछ भी हो चुकी है, लेकिन घटना में घायल मृतका की बेटी के बदलते बयानों ने मां के मर्डर को पुलिस के लिए मिस्ट्री बना दिया है.

सिटी एसपी अमित श्रीवास्तव ने बताया कि पुलिस बेटी के बयानों में उलझी हुई है. मृतका की बेटी मां के हत्यारों को पहचानने के बाद भी सही नाम लेने को तैयार नहीं है. बेटी मां की हत्या की इकलौती चश्मदीद है, जिसके कारण पुलिस गुमराह भी हो रही है. पुलिस के सामने लड़की ने स्थानीय नेताओं, छात्र नेताओं और व्यापारियों के नाम बताये, जिससे पुलिस के सामने बड़ा सवाल खड़ा हो गया है.

पुलिसिया सूत्रों की माने तो इस हत्या में स्थानीय नेता, छात्र नेता या मृतका की बेटी के प्रेमी का हाथ हो सकता है. इस बीच चिकित्सकों ने कहा कि घायल लड़की की हालत में अब सुधार है. पुलिस सूत्रों की माने तो जांच में हत्या के पीछे प्रेम प्रसंग और अवैध संबंध जैसी बात सामने आ रही है, लेकिन पूरी जांच चश्मदीद बेटी के बयान पर अटक गई है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर