प्रशंसक न पकड़े लें इसलिए देर शाम नैनीताल में झील किनारे और मालरोड की सैर करते थे ऋषि कपूर
Nainital News in Hindi

प्रशंसक न पकड़े लें इसलिए देर शाम नैनीताल में झील किनारे और मालरोड की सैर करते थे ऋषि कपूर
साल 2012 में ऋषि कपूर नैनीताल आए और औरंगजेब फ़िल्म की शूटिंग की थी. (फ़ाइल फ़ोटो)

हैड़ाखान से है कपूर परिवार का नाता, औरंगज़ेब फ़िल्म की शूटिंग के लिए नैनीताल आए थे ऋषि कपूर और यहां खूब मस्‍ती की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2020, 3:48 PM IST
  • Share this:
नैनीताल. फ़िल्म अभिनेता ऋषि कपूर के आज दुनिया से जाने पर नैनीताल में भी शोक की लहर है. साल 2012 में ऋषि कपूर नैनीताल आए और औरंगजेब फ़िल्म की शूटिंग की थी. रिज़र्व रहने वाले ऋषि कपूर ने हालांकि इस दौरान मीडिया से दूरी बनाए रखी लेकिन नैनीताल की मालरोड में सैर सपाटा किया और खरीदारी की. फ़िल्म मीडिएटर सगीर खान बताते हैं कि शूटिंग के दौरान ऋषि कपूर अनुशासन का पालन करते थे और कोई प्रशंसक न पकड़ ले इसके लिए वह शाम को झील किनारे व बाज़ार की सैर करते थे.

हैड़ाखान से नाता

बता दें कि यशराज फिल्म्स के बैनर तले बनी फ़िल्म औरंगजेब आयरपाटा में शूट हुई थी जो अपराध और धोखेबाज़ी पर आधारित थी. इसमें ऋषि कपूर ने डीसीपी की भूमिका निभाई. इस फ़िल्म में उनके साथ अभिनेता अर्जुन कपूर और अभिनेत्री तन्वी थीं.



नैनीताल के हैड़ाखान मंदिर से कपूर परिवार का नाता गहरा रहा है. हर साल इस मंदिर में इनका आना-जाना लगा रहता था. फ़िल्म अभिनेता इदरीस मालिक बताते हैं कि परिवार के बड़े शम्मी कपूर अपने परिवार के साथ अमूमन हैड़ाखान आते रहते थे, तो ऋषि कपूर का भी इस मंदिर खास लगाव रहा.
सुबह दिल्ली, शाम को जयपुर

इदरीस कहते हैं कि 1988 में जब वह नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा से निकले तो इस दौरान उन्हें चांदनी फ़िल्म में ऋषि कपूर के साथ दिल्ली के महरौली में काम करने का मौका मिला. इस फ़िल्म के दो गाने मेरे हाथों में नौ-नौ चूड़ियां हैं और में ससुराल नहीं जाऊंगी शूट हुए तो दिन के बाद ऋषि कपूर दूसरी फिल्म में काम करने जयपुर जाते थे.

इदरीस मालिक कहते हैं कि ऋषि कपूर एक बेहतरीन एक्टर थे और उनका ऐसे चले जाना दुख देता है.

 

ये भी पढ़ें

लॉकडाउन के बीच हरियाणा से ट्रक-मज़दूर पहुंच गए उत्तरकाशी, ग्रामीणों ने लौटाया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज