Home /News /uttarakhand /

नैनीताल के ज्योलीकोट में 3 महीने में पकड़े गए 7 तेंदुए, ये है पिंजरे में फंसने की वजह

नैनीताल के ज्योलीकोट में 3 महीने में पकड़े गए 7 तेंदुए, ये है पिंजरे में फंसने की वजह

तेंदुओं

तेंदुओं के पकड़े जाने से इलाके में दहशत का भी माहौल है.

तेंदुओं के पिंजरे में कैद होने से इस क्षेत्र के लोगों में भी डर का माहौल बना हुआ है.

    नैनीताल के ज्योलीकोट क्षेत्र में पिछले कुछ महीनों से लगातार गुलदारों (Nainital Leopards) के कैद होने की खबरें मिल रही हैं. बीते तीन महीनों में अब तक केवल इसी क्षेत्र में 7 गुलदार वन विभाग के लगाए पिंजरों में फंसे हैं. बीते शनिवार यानी 8 जनवरी को भी एक और गुलदार पिंजरे में कैद हुआ था. तेंदुओं के पिंजरे में कैद होने से इस क्षेत्र के लोगों में भी डर का माहौल बना हुआ है, लेकिन बस एक सवाल यह रह जाता है कि आखिर इतने कम समय में 7 गुलदारों के पिंजरे में फंसने की वजह क्या है.

    नैनीताल के डीएफओ टीआर बीजूलाल ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि साल 2020 और 2021 में लॉकडाउन के दौरान इन वाइल्ड एनिमल्स की ब्रीडिंग अच्छे से हुई थी, जिस वजह से इनकी तादाद में इजाफा हुआ है. साथ ही जंगलों में लगी आग पर भी इन दो वर्षों में कंट्रोल रहा है और क्योंकि वन विभाग की टीम ने उस जगह पर लोगों की जानमाल की हानि को देखते हुए पिंजरे लगा रखे हैं. इस वजह से भी गुलदार उन पिंजरों में कैद हो रहे हैं.

    डीएफओ बीजूलाल ने यह भी बताया कि अक्टूबर के बाद के महीनों में सर्दियों की वजह से कारनिवोर्स एनिमल्स ऊपर से नीचे की ओर माइग्रेशन करते हैं, जो उनका स्वाभाविक नेचर है. इस दौरान वह आबादी की ओर से भी गुजरते हैं और आम आदमी के साथ इनका सामना होता है.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर