Rape Case: गिरफ्तारी पर रोक के लिए हाईकोर्ट पहुंचे शांतिकुंज के प्रमुख डॉ. प्रणव पांड्या

दुष्‍कर्म के आरोपों का सामना कर रहे शांतिकुंज हरिद्वार के प्रमुख डॉ. प्रणव पांड्या (फाइल फोटो)

दुष्‍कर्म के आरोपों का सामना कर रहे शांतिकुंज हरिद्वार के प्रमुख डॉ. प्रणव पांड्या (फाइल फोटो)

डॉ. प्रणव पांड्या (Dr. Pranav Pandya) पर छत्तीसगढ़ की एक लड़की ने दुष्‍कर्म का आरोप लगाया है. पीड़िता ने इस मामले में डॉ. पांड्या की पत्‍नी शैलजा को नामजद करते हुए दिल्‍ली के विवेक विहार पुलिस स्‍टेशन में जीरो एफआईआर दर्ज कराई है.

  • Share this:
नैनीताल. रेप के आरोपों का सामना कर रहे शांतिकुंज आश्रम (Shantikunj Ashram) के प्रमुख और पंडित श्रीराम शर्मा के दामाद डॉ. प्रणव पांड्या (Dr. Pranav Pandya) ने नैनीताल हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर गिरफ्तारी पर रोक लगाने की मांग की है. इस मामले में गुरुवार को सुनवाई होगी.



क्या है मामला

दरअसल, पांड्या पर छत्तीसगढ़ की एक लड़की ने दुष्‍कर्म का आरोप लगाया है. छत्तीसगढ़ के रायपुर की रहने वाली एक लड़की ने ये आरोप लगाया है. इस मामले में दिल्ली के विवेक विहार थाने में एफआईआर दर्ज की गई है. एफआईआर में पांड्या की पत्नी को भी नामजद किया गया है.  दिल्ली पुलिस ने मामला हरिद्वार पुलिस को भेजा है.



शांतिकुंज के अलावा डॉ. पांड्या के पास ये जिम्‍मेदारी
फिलहाल शांतिकुंज के अलावा डॉ. पांड्या के पास देव संस्कृति विश्वविद्यालय के कुलाधिपति, ब्रह्मवर्चस शोध संस्थान के निदेशक तथा अखण्ड ज्योति पत्रिका के सम्पादक की जिम्‍मेदारी भी है. डॉ. प्रणव पांड्या को 1998 में ज्ञान भारती सम्मान, 1999 में हिन्दू ऑफ दि ईयर पुरस्कार से सम्‍मानित किया जा चुका है. इसके अलावा, उन्‍हें अमेरिका के विश्वविख्यात अंतरिक्ष संस्थान 'नासा' द्वारा वैज्ञानिक अध्यात्मवाद के प्रचार-प्रसार के लिए भी सम्मानित किया गया था.





ये भी पढ़ें- दुकानें खुलते ही रुड़की के बाजारों में उमड़ी भीड़, लागू होगा रोस्‍टर सिस्‍टम



COVID-19: उत्तराखंड में 11 और पॉजिटिव केस, संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 122
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज