पहाड़ पर बारिश से हल्द्वानी में जलसंकट, पानी के टैंकर के भरोसे हैं 70 हजार लोग
Nainital News in Hindi

पहाड़ पर बारिश से हल्द्वानी में जलसंकट, पानी के टैंकर के भरोसे हैं 70 हजार लोग
कोरोना में सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी है लेकिन घरों में पानी न आने से लोग इस डिस्टेंसिंग को तोड़ने पर मजबूर हैं.

पहाड़ों में हो रही बारिश से गौला नदी में गाद, मिट्टी से भरा पानी आ रहा है. इसके चलते जल संस्थान का फिल्टर प्लांट बार-बार चोक हो जा रहा है. लोगों को पानी के लिए टैंकर का करना पड़ता है इंतजार

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
हल्द्वानी. पहाड़ों में हो रही बारिश की वजह से कुमाऊं के सबसे बड़े शहर में पानी की कमी हो गई है. हल्द्वानी में पानी की किल्लत से हजारों लोग परेशान हैं. विशेषकर तल्ली हल्द्वानी, दमुवाढूंगा, कुसुमखेड़ा, राजपुरा, गांधी नगर, नवाबी रोड और फतेहपुर के इलाकों में दिक्कत है. यहां पानी न आने से लोग प्राइवेट टैंकर मंगा रहे हैं या सरकारी टैंकरों के इंतजार में खड़े नजर आ रहे हैं. इन इलाकों में शहर की 70 हजार से ज्यादा आबादी रहती है, जिसे पानी के लिए परेशान होना पड़ रहा है.

इसलिए हुई दिक्कत

जल संस्थान के ईई विशाल सक्सेना के मुताबिक पहाड़ों में हो रही बारिश से गौला नदी में गाद, मिट्टी से भरा पानी आ रहा है. इसके चलते जल संस्थान के फिल्टर प्लांट में भारी मात्रा में सिल्ट पहुंच रही है और इस वजह से फिल्टर प्लांट बार-बार चोक हो जा रहा है. इसके कारण पानी साफ करने में दिक्कत आ रही है और शहर की जलापूर्ति प्रभावित हो रही है.



इसके अलावा बच्ची नगर, छड़ायल नयाबाद और रामणी जसुवा में ट्यूबवेल की मोटर खराब होने के वजह से भी इन इलाकों में पानी की किल्लत पैदा हो गई है. हालांकि वह दावा करते हैं कि जल संस्थान की टेक्निकल टीमें ट्यूबवेल दुरुस्त करने में जुटी हुई हैं.



water crisis haldwani 4, हल्द्वानी में पानी की किल्लत से हज़ारों लोग परेशान हैं.
हल्द्वानी में पानी की किल्लत से हज़ारों लोग परेशान हैं.


कम साफ हो रहा है पानी

काठगोदाम बैराज के जरिए गौला नदी से जल संस्थान के शीशमहल फिल्टर प्लांट को पानी मिलता है. फिल्टर प्लांट की क्षमता 32 एमएलडी यानी 3.20 करोड़ लीटर पानी के साफ करने की है लेकिन कचरे और मिट्टी के कारण प्लांट की क्षमता करीब 58 लाख लीटर कम हो गई. इसकी वजह से पाइप लाइनों में पानी का प्रेशर कम हो गया है और बहुत सारे इलाकों में पानी नहीं पहुंच पा रहा.

सोशल डिस्टेंसिंग की छुट्टी

जल संस्थान के ईई विशाल सक्सेना का दावा है कि जिन इलाकों में पानी की किल्लत है वहां टैंकर्स के जरिए पानी की सप्लाई की जा रही है. शहर में 22 टैंकर पानी की सप्लाई में लगे हैं. कोरोनाकाल में सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी है. लेकिन घरों में पानी न आने से लोग इस डिस्टेंसिंग को तोड़ने पर मजबूर हैं. नवाबी रोड के पार्षद रवि वाल्मिकी के मुताबिक लोग मजबूरी में पानी के लिए टैंकरों की लाइनों में लगने पर मजबूर हैं.

ये भी देखें: 
First published: June 3, 2020, 11:07 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading